संघ की शाखा में बच्चों से मारपीट मामला: विधानसभा में हंगामा, मंत्री ने घटना ही बदल दी

0
2281

न्यूज चक्र @ सेन्ट्रल डेस्क/जयपुर
बून्दी में बुधवार शाम को आरएसएस की एक शाखा में अभ्यास कर रहे बच्चों से हुई मारपीट मामले में आज विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ। सदन में बीजेपी विधायकों ने कहा कि ये केरल या बंगाल नहीं, राजस्थान है। यह बहुत दुख की बात है। आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी होनी चाहिए। ऐसे हमले बर्दाश्त नहीं होंगे। सरकार ऐसे लोगों को संरक्षण ना दे। वरना हमें उन्हें मुंडी पकड़कर पुलिस के हवाले करना पड़ेगा। सरकार दबाव में है, इसलिए कार्यवाही नहीं हो रही है।
विपक्ष के आरोपों के बाद संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल ने इस पर बेहद आश्चर्यजनक बयान दिया। इसमें उन्होंने उलटा बच्चों को ही दोषी ठहरा दिया। धारीवाल ने कहा कि लड़कियां झूला झूल रहीं थीं। वहां संघ की शाखा के लड़के आए, इससे विवाद हो गया। मामूली सी घटना थी, किसी को चोट नहीं आई है। मैंने रात को ही गुलाब चंद कटारिया और मदन दिलावर को जानकारी दे दी थी।
उल्लेखनीय है कि सदन में प्रतिपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया ने बून्दी की घटना पर सरकार से जवाब मांगा था। उन्होंने कहा, सरकार बताए क्या कार्यवाही की गई? वहीं बीजेपी के ही विधायक मदन दिलावर ने पूछा, जब आरोपियों के रूप में 50 का नाम लिया गया तो 5-6 के खिलाफ ही मामला दर्ज क्यों कराया?
सदन में हंगामा, स्पीकर डॉ. जोशी ने दिया दखल
आरएसएस की शाखा पर हुए हमले के मामले में विधायक मदन दिलावर ने सवाल उठाया था। इस मसले पर गुलाबचंद कटारिया भी बोलना चाहते थे। उन्होंने कार्रवाई की मांग की। इस पर संसदीय कार्यमंत्री डॉ. सीपी जोशी ने कहा कि पर्ची पर आप नहीं बोल सकते। इस टिप्पणी पर इस दौरान हंगामा हुआ। नाराज भाजपा विधायकों ने जमकर हंगामा किया। हंगामा बढ़ने के बाद सभापति की जगह अध्यक्ष सीपी जोशी को सदन में आना पड़ा।
RELATED NEWS

आरएसएस की शाखा में अभ्यास कर रहे बच्चों से मारपीट


जवाब तो देना पड़ेगा
विधानसभा में हंगामे के बाद नेता प्रतिपक्ष कटारिया ने गृहमंत्री से जवाब मांगते हुए कहा, घटना गम्भीर है, जवाब तो देना पड़ेगा। इस पर माहौल को संभालने के लिए आसन पर लौटे डॉ. सीपी जोशी ने कटारिया की बात को काटा। उधर, जोशी ने धारीवाल को हिदायत देते हुए कहा कि आप संसदीय कार्य मंत्री हैं। आसन पैरों पर है, फिर भी आप बोल रहे हैं। मैं सदन की गरिमा कम नहीं होने दूंगा। सदस्यों को बोलने का पूरा मौका दूंगा। पर्ची का दुरुपयोग नहीं होने दिया जाएगा।
यह है मामला
विधानसभा में बताया गया कि बून्दी के बालचन्द पाड़ा में बुधवार शाम को शाखा चल रही थी। इसी बीच योजनाबद्ध तरीके से हमला किया गया। मासूम बच्चों से मारपीट का वीडियो भी बनाया गया। जानकारी के अनुसार मारपीट में चार बच्चों सोनू सैनी, बंकिम, शिखर व धैर्य को हल्की चोटें आईंं। हिन्दू संगठनों ने आरोपियों की गिरप्तारी की मांग की। कोतवाली पुलिस ने शफी मोहम्मद नामक एक व्यक्ति को हिरासत में ले लिया।