पति की गैर मौजूदगी में महिला के साथ रंगरेलियां मनाने का आरोपी सीआई लाइन हाजिर

0
823

न्यूज चक्र @ कोटा
पति की गैरमौजूदगी में उसके घर पर पत्नी के साथ रंगरेलियां मनाने के आरोपी अनंतपुरा सीआई नरेन्द्र पारीक को शुक्रवार शाम लाइन हाजिर कर दिया गया। इसी के साथ अनंतपुरा थाने का चार्ज मकबरा थानाधिकारी को सौंप दिया। एसपी ने कुछ और थानों में बदलाव किए हैं।
उल्लेखनीय है कि गुरुवार रात अनंतपुरा थाना क्षेत्र के गोबरिया बावड़ी चौराहे पर एक युवक ने यह आरोप लगा कर हंगामा खड़ा कर दिया कि कुछ देर पहले वह पास ही में स्थित अपने घर पहुंचा तो वहां अनंतपुरा सीआई नरेन्द्र पारीक को शराब पीता हुआ पाया। घर पर केवल उसकी पत्नी ही थी। इस पर मौके पर काफी लोग जमा हो गए और आक्रोशित हो सीआई व पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। इसी के साथ बड़ी संख्या में लोग जवाहर नगर थाने पहुंच गए। वहां उन्होंने सीआई पारीक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर उसका उसका मेडिकल मुआयना करवाने की मांग की। करीब दो घंटे तक इस मांग को लेकर लोग थाने पर हंगामा करते रहे। अधिकारी इस बीच पूरे समय लोगों को समझाइश कर मामले को रफा दफा करने का प्रयास करते रहे। सीआई के खिलाफ यहां से कोई एक्शन नहीं लिया गया। वहीं यह खबर उच्चाधिकारियों तक पहुंची तो पुलिस महकमे में खलबली मच गई।
युवक ने यह सुनाया पूरा किस्सा
युवक का कहना था कि वह किसी की गाड़ी चलाता है। उसका गोबरिया बावड़ी मेन रोड पर मकान है। गुरुवार रात को वह काम से घर लौटा और घर की घंटी बजाई तो अंदर से कोई जवाब नहीं मिला। तीन-चार बार घंटी बजाने पर अंदर की लाइट बंद हो गई, इसके बाद जाकर उसकी पत्नी ने दरवाजा खोला। वह अंदर गया तो सीआई नरेन्द्र पारीक को वहां पलंग पर बैठा हुआ पाया। पास में शराब की बोतल भी रखी हुई थी। उसने इस बात का विरोध किया तो पारीक घर से निकलकर भाग निकला। इस सम्बन्ध में क्षेत्रवासियों का कहना था कि गोबरिया बावड़ी के पास एक लग्जरी सफेद कार खड़ी हुई थी, सीआई पारीक उसे ही लेकर थाने की ओर गया है।
इसके घटनाक्रम के बाद एसपी (सिटी) दीपक भार्गव ने शुक्रवार शाम आदेश जारी कर अनंतपुरा सीआई नरेन्द्र पारीक को लाइन हाजिर कर दिया। वह करीब एक साल से इस थाने में तैनात थे। उनके स्थान पर अनंतपुरा थाने का चार्ज मकबरा थानाधिकारी देवेश भारद्वाज को सौंपा गया है।
इसी क्रम में एसपी ने किशोरपुरा थाने से लाइन हाजिर किए गए सीआई लक्ष्मण सिंह के स्थान पर लाइन में लगे हुए सीआई बाबूलाल मीणा को किशोरपुरा थानाधिकारी बना दिया। उल्लेखनीय है कि सीआई लक्ष्मण सिंह सहित एएसआई मुकेश त्यागी व कांस्टेबल सुंदर को एसपी ने विवाहिता के दिन दहाड़े हुए बहुचर्चित अपहरण के मामले के बाद लाइन हाजिर कर दिया था। इसके बाद किशोरपुरा थानाधिकारी का कार्यभार द्वितीय थानाधिकारी सम्भाल रहे थे।