आलोचनाओं के दौर में धोनी के बारे में साथी खिलाड़ियों ने किया बड़ा खुलासा

0
1081

न्यूज चक्र @ सेन्ट्रल डेस्क
वर्ल्ड कप में महेन्द्र सिंह धोनी के प्रदर्शन को लेकर आलोचनाओं का सिलसिला लगातार जारी है। प्रशंसक उनकी धीमी बल्लेबाजी को लेकर सवाल उठा रहे हैं तो कुछ लोगों का ये भी कहना है कि धोनी अब पहले जैसे मैच फिनिशर नहीं रहे। इनके बावजूद भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली और उप कप्तान रोहित शर्मा लगातार धोनी को समर्थन दे रहे हैं। यहां तक कि टीम इंडिया के अन्य सदस्यों का भी धोनी पर पूरा विश्वास है। उनका कहना है कि अगर भारतीय टीम को वर्ल्ड कप जीतना है तो इसमें उनकी अहम भूमिका रहेगी। टीम में धोनी की भूमिका पर भी इन खिलाड़ियों का रुख एकदम साफ है।
एक समाचार एजेंसी की रिपोर्ट से भारतीय टीम के इस विश्वास का और खुलासा हो जाता है। इसके अनुसार टीम के एक खिलाड़ी ने बात करते हुए कहा कि माही भाई के पास हर सवाल का जवाब है। इस खिलाड़ी के अनुसार, ”हर कोई महेन्द्र सिंह धोनी की स्ट्राइक रेट की बात कर रहा है, लेकिन ये लोग भूल जाते हैं कि धोनी जब बल्लेबाजी के लिए मैदान पर उतरते हैं तो उनके साथ निचले क्रम के बल्लेबाज खेल रहे होते हैं।”
हम इंग्लैंड की टीम नहीं हैं…
टीम इंडिया के इस खिलाड़ी ने कहा कि ईमानदारी से कहें तो हम इंग्लैंड टीम नहीं हैं, जहां नम्बर दस तक बल्लेबाज हैं। माही भाई जब भी क्रीज पर कदम रखते हैं तो अधिकतर मौकों पर उनके साथ निचले क्रम के बल्लेबाज होते हैं। उन्हें इस बात का भी खयाल रखना पड़ता है। उनके पास बेन स्टोक्स की तरह खुलकर खेलने की आजादी नहीं होती। हमने बांग्लादेश के खिलाफ भी ऐसा ही देखा था, जब धोनी के आउट होने के बाद हमने आखिरी ओवर में दो विकेट गंवा दिए थे।
माही का अनुभव बाजार में नहीं बिकता
इस खिलाड़ी के अनुसार, धोनी का मैदान पर अनुभव इतना विशाल है कि उनके पास हमारे हर सवाल का जवाब होता है। अगर प्लान A काम नहीं करता तो धोनी के पास प्लान B, C और प्लान D होता है। बांग्लादेश के खिलाफ मुकाबले में भी वह ऋषभ पंत को बताते दिखे थे कि उन्हें किन क्षेत्रों में अटैक करना चाहिए। आप उनके जैसा अनुभव बाजार से नहीं खरीद सकते।
धोनी की वजह से बाउंड्री लाइन पर फील्डिंग करते हैं कोहली
समाचार एजेंसी की इस रिपोर्ट के अनुसार भारतीय टीम के खिलाड़ी ने नाम छिपाने की शर्त पर कहा कि माही भाई की वजह से ही विराट भाई बाउंड्री लाइन पर फील्डिंग कर रन रोकने में सफल हो पाते हैं, क्योंकि तब धोनी विकेट के पीछे से गेंदबाजों को राह दिखाने का काम कर रहे होते हैं।
फील्डिंग उपकप्तान हैं धोनी
एक अन्य खिलाड़ी ने कहा कि जब टीम को कोई बड़ा टूर्नामेंट खेलना होता है तो धोनी की मौजूदगी ही खिलाड़ियों का आत्मविश्वास बढ़ा देती है। इस खिलाड़ी ने बताया कि हम जानते हैं कि धोनी भाई हमारे साथ हैं। उनके सुझाव बेहद कारगर होते हैं। हम आंख मूंदकर उन पर विश्वास करते हैं। वह एक तरह से फील्डिंग उपकप्तान हैं, जो न केवल हमें गाइड करते हैं, बल्कि जरूरत पड़ने पर कप्तान कोहली के भी मददगार होते हैं।