जयपुर: सड़क किनारे बुरी हालत में निर्वस्त्र युवती मिली

0
162

अन्यूज चक्र @ जयपुर
राजधानी के कानोता थाना क्षेत्र में मंगलवार देर रात सड़क किनारे एक युवती के बुरी हालत में निर्वस्त्र मिलने पुलिस महकमे में खलबली मच गई। इस युवती के शरीर को कई जगह से नोंचा हुआ था। इंटरनल पार्ट को सिगरेट से दागा हुआ था। मुंह पर टेप चिपकी हुई थी और पैर अंतःवस्त्र से बंधे हुए थे। युवती ने बताया कि उसके हाथ भी बंधे हुए थे,जिन्हें वह मुश्किल से खोल पाई थी।
पुलिस आगरा रोड, प्रेम नगर के नजदीक शनि मंदिर के पास युवती के बुरी हालत में पड़ी होने की सुचना पाकर मौके पर पहुंची। वहां से उसे कपड़े देकर एसएमएस अस्पताल के ट्रोमा सेंटर में भर्ती करा कर उसके पर्चा बयान लिए गए। इसके आधार प मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी।
युवती ने यह दिया बयान
अलवर निवासी 27 वर्षीय इस युवती ने पर्चा बयान में बताया कि उसने वर्ष 2018 में ज्योति नगर थाने में उस पर जानलेवा हमला कर बलात्कार करने का मामला दर्ज कराया था। इसमें इस थाने का कांस्टेबल कपिल शर्मा ही आरोपी था। इसी वर्ष दीपेश चतुर्वेदी नामक युवक से मुलाकात हुई, जिसने अपने आपको सचिवालय स्थित मानवाधिकार आयोग में उपनिदेशक बताया। साथ ही बलात्कार के आरोपी कांस्टेबल कपिल शर्मा को गिरफ्तार कराने का आश्वासन दिया। इसके बदले में चतुर्वेदी ने उससे 45 हजार रुपए लिए। मगर लम्बा समय बीत जाने के बाद भी जब कपिल के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई तो वह दो दिन पहले दीपेश चतुर्वेदी से मिलने सचिवालय गई। मगर वहां पता चला कि इस नाम का वहां कोई अधिकारी ही नहीं है। इस पर मंगलवार रात करीब सवा नौ बजे वह प्रेम नगर स्थित दीपेश के घर पहुंची। वहां वह दीपेश के परिजनों को उससे हुई बातचीत की रिकॉडिंग सुना रही थी, तभी पीछे से सिर पर किसी ने जोरदार वार किया। इससे वह बेहोश हो गई। होश आया तो वह एक कमरे में बंद थी। वहां दीपेश, कपिल और दो अन्य युवक भी थे। उन्होंने वीडियो कॉलिंग कर डॉक्टर अनुराग शर्मा से कहा कि इसे सबक सीखा दिया है। इसे खत्म कर देंगे, क्या करना है।
नृशंस बर्ताव करने का आरोप भी लगाया
पीड़िता ने आरोप लगाया कि आरोपियों ने इसके बाद सिगरेट से उसके इंटरनल पार्ट्स को दागा। जगह-जगह ब्लेड से चीरा लगाया और फिर मारपीट की। उसे कोई इंजेक्शन भी लगाया। इससे वह बेहोश हो गई। होश आया तो वह जंगल में पड़ी हुई थी। उसके मुंह में कपड़ा ठूंसकर टेप लगा रखी थी। हाथ-पैर बंधे हुए थे। उसने किसी प्रकार कोशिश कर अपने हाथ खोले। फिर बंधे हुए पैरों से रगड़ते हुए सड़क किनारे पहुंची। वहां से गुजर रहे लोगों ने उसकी यह दशा देख पुलिस को सूचना दी।
पुलिस ने घटना की गम्भीरता को देखते हुए युवती के बताए हुए स्थानों के आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगालने शुरू किए। साथ ही आरोपियों की तलाश में भी जुट गई। डीसीपी राहुल जैन वारदात के बाद से ही मामले की तह तक जाने में जुट गए थे। दिनभर कानोता थाना और आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालते रहे। डीसीपी जैन ने बताया कि युवती की कही हुई हर बात को सच मानते हुए जांच की जा रही है। जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। लोकेशन सहित वैज्ञानिक तरीके से भी मामले की जांच की जा रही है।
महिला आयोग की पूर्व राज्य अध्यक्ष व भाजपा नेत्री सुमन शर्मा ने अस्पताल पहुंचकर पीड़िता से मुलाकात करने के बाद शीघ्र आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की। साथ ही कहा कि राज्य में जब से कांग्रेस की सरकार आई है, इस चार महीने की अवधि में रोज महिलाओं से सम्बन्धित अपराध सामने आ रहे हैं।
गौरतलब है कि कुछ महीनों से राज्य में महिलाओं से सम्बन्धित अपराधों में काफी बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। अलवर में पति ससुर के सामने ही पत्नी से सामूहिक दुष्कर्म इस कड़ी में बेहद चर्चित वारदात है। मासूमों से बलात्कार ही नहीं दुल्हन का ससुराल के रास्ते में कार में से सरेराह अपहरण तक इनमें शामिल है। इससे विपक्ष राज्य की कांग्रेस सरकार पर हमलावर है।