तीन तलाक पीड़ित युवती ने धर्म बदल की हिन्दू युवक से शादी

0
370

न्यूज चक्र @ सेन्ट्रल डेस्क
उत्तर प्रदेश के पीलीभीत से एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें तीन तलाक से पीड़ित एक युवती ने परेशान होकर धर्म बदल हिन्दू युवक से शादी कर ली। मंदिर में हिन्दू रीति-रिवाज के अनुसार धूमधाम से हुई इस शादी की खबर फैलते ही बवाल मच गया। आक्रोशित लोग शादी करने वाले युवक को जान से मार देने की धमकी देने लगे। इस पर पुलिस से सुरक्षा की गुहार की गई है।
जानकारी के मुताबिक, मामला पीलीभीत शहर के देशनगर मोहल्ला का है। इसी मोहल्ले में मोहम्मद इस्लाम की बेटी रेशमा रहती है। उसकी शादी तीन साल पहले कांशीराम कॉलोनी, ईदगाह निवासी मोहम्मद रईस से हुई थी। शादी के कुछ दिन बाद ही पति-पत्नी के बीच मन मुटाव हो गया। इसके बाद पति ने रेशमा को प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। साथ ही आए दिन उसके साथ मारपीट भी करता था। जब पति का इतने से भी मन नहीं भरावतो उसने 5 अप्रैल 2019 को पत्नी रेशमा को तीन तलाक दे दिया।
इसी दौरान रेशमा की मुलाकात कांशीराम कॉलोनी, ईदगाह निवासी दीपू उर्फ दीपक राठौर से हुई। फिर दोनों ने एक दूसरे से मिलना-जुलना शुरू कर दिया। देखते ही देखते दोनों में प्यार हो गया और बात शादी तक आ गई। इसके बाद रेशमा ने हिन्दू धर्म अपनाकर बुधवार शाम बरेली की बड़ी बमनपुरी स्थित एक मंदिर में शादी कर ली। अपना नाम भी बदलकर रानी रख लिया। शादी करते ही दीपू को धमकियां मिलने लगी।
दीपू ने बताया कि दोनों अलग समुदाय के हैं इसलिए उन्हें धमकियां मिल रही हैं। उनकी जान को खतरा है। विवाह कराने वाले अखिल भारतीय हिन्दू महासभा के वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष पंडित केशव शंखधार ने बताया कि रेशमा परेशान थी। दीपू ने उसे सहारा दिया। दीपू के पिता लालाराम ने बताया कि वह रिक्शा चलाकर परिवार का भरण-पोषण करते हैं। वे मूल रूप से कलीनगर के रहने वाले हैं। तीन दशक पहले पीलीभीत आकर बस गए थे। उनके छह लड़के और एक बेटी रोशनी है। उन्होंने कहा कि जब शादी करने की खबर मिली तो थोड़ा दुख हुआ था, मगर अब ऐसी कोई बात नहीं है। रानी से हमें कोई भी शिकायत नहीं है।