अब स्टार रेटिंग घर बनाने की तैयारी, 40 फीसदी तक घटेगी बिजली की खपत

0
141

न्यूज चक्र @ सेन्ट्रल डेस्क
चुनाव बाद रिहायशी प्रोजेक्ट्स के लिए ऊर्जा मंत्रालय स्टार रेटिंग प्रोग्राम लागू करने की तैयारी में है। इसके तहत बने मकानों में बिजली की खपत सामान्य से 40 प्रतिशत तक कम होगी। news 18.com ने सूत्रों के हवाले से ये दावा किया है। जानकारी के अनुसार स्टार रेटिंग प्रोग्राम के लिए पावर मिनिस्ट्री की एनर्जी एफिशिएंसी ब्यूरो ने बिल्डरों से बातचीत भी शुरू कर दी है। अगले महीने इस पर औपचारिक समझौते की उम्मीद है। सरकार ने ये प्रोग्राम फरवरी में लॉन्च किया था।‌ प्रोग्राम के लिए अब तक सिर्फ सीपीडब्ल्यू से समझौता हुआ है।
पावर मिनिस्ट्री ने रेजिडेंशियल घरों के लिए स्टार रेटिंग प्रोग्राम को लागू करने की प्रक्रिया तेज कर दी है। हर तरह के ग्रुप हाउसिंग के लिए स्टार रेटिंग जरूरी करने की योजना है। डेवलपर के साथ बातचीत शुरू हो गई है। चुनावों की वजह से काम रुका था। उल्लेखनीय है कि सरकार ने अपने एनर्जी एफिशिएंसी प्रोग्राम के तहत हाउसिंग प्रोजेक्ट्स के लिए भी स्टार रेटिंग प्रोग्राम शुरू किए थे, लेकिन चुनावों की वजह से इन्हें लागू नहीं किया जा सका था। आने वाले दिनों में हर तरह के हाउसिंग प्रोजेक्ट के लिए स्टार रेटिंग को जरूरी बनाया जाएगा।
ये होंगे फायदे
स्टार रेटिंग वाले घरों में बिजली की खपत 35 से 40 फीसदी तक कम होगी। इन मकानों के मेंटिनेंस खर्चे में भी करीब 20 फीसदी की कमी आएगी। स्टार रेटिंग प्रोग्राम को हर नए प्रोजेक्ट के लिए जरूरी बनाने की तैयारी है।
10 फीसदी तक महंगे हो सकते हैं घर
स्टार रेटिंग घरों में अलग तरह के आर्किटेक्ट, डिजाइन और अलग तरह के ही मेटेरियल का इस्तेमाल होगा। इसलिए घरों की कीमत स्टार रेटिंग के आधार पर तय होगी। इसके चलते स्टार रेटिंग वाले घरों की कीमत में 10-12 फीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है। मगर दूरगामी नजरिये से खरीदारों के लिए ये बेहद फायदे का सौदा ही साबित होगा।
अगर कोई व्यक्ति अपना खुद का घर बनाना चाहेगा, तो उसे भी सरकार मदद करेगी। ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी ने उसके लिए एक अलग से प्लैटफॉर्म शुरू किया है, जहां से ऐसे होम बायर्स के लिए मदद की जा सकती है।