जारी रहेगा नमो टीवी का प्रसारण, बस शर्त यह है कि…

0
70

न्यूज चक्र @ सेन्ट्रल डेस्क
आचार संहिता उल्लंघन मामले में चुनाव आयोग ने गुरुवार को कुछ शर्तों के साथ नमो टीवी पर बैन नहीं लगाने का बड़ा फैसला किया है। इन शर्तों के अनुसार चैनल पर प्रसारित होने वाली सामग्री, विज्ञापनों को एमसीएमसी कमेटी से सत्यापित होना जरूरी होगा। चुनाव आयोग ने दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारी को इस सम्बन्ध में पत्र लिखा है।
चुनाव आयोग ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के मुख्य चुनाव अधिकारी को भेजे गए पत्र में लिखा है कि ‘आपने यह पुष्टि की है कि नमो टीवी पर प्रसारित हो रहे कंटेंट को आपके कार्यालय के एमसीएमसी कमिटी की तरफ से पूर्व- सत्यापित नहीं किया गया है।’ आयोग ने लिखा, ‘नमो टीवी और उसका कंटेंट एक राजनीतिक दल की तरफ से प्रायोजित है। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट के 13 अप्रैल, 2004 के आदेश के आधार पर 15 अप्रैल, 2004 को जारी किए चुनाव आयोग के दिशा-निर्देश इस चैनल पर लागू होंगे। इसलिए नमो टीवी पर प्रसारित होने वाले हर विज्ञापन, कार्यक्रम और राजनीतिक कंटेंट का प्रसारण से पहले एमसीएमसी कमिटी से सत्यापित होना अनिवार्य है।’
पत्र में आयोग ने आगे लिखा कि ‘एमसीएमसी से सत्यापन कराए बिना इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर प्रसारित किसी भी कंटेंट को तुरंत प्रभाव से हटाया जाए। राजनीतिक सामग्री के प्रसारण के संदर्भ में चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन किया जाए। आयोग ने दिल्ली के चुनाव अधिकारी से इस सम्बन्ध में जल्द से जल्द कम्प्लायंस रिपोर्ट देने को कहा है।
गौरतलब है कि एक दिन पहले ही सुप्रीम कोर्ट ने पीएम नरेन्द्र मोदी की बायोपिक पर चुनाव खत्म होने तक के लिए रोक लगा दी थी।