गोवा के मुख्‍यमंत्री मनोहर पर्रिकर नहीं रहे, सोमवार को राष्ट्रीय शोक

0
106

न्यूज चक्र @ सेन्ट्रल डेस्क/पणजी
गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का रविवार रात 8.5 बजे 63 साल की उम्र में निधन हो गया। वह लम्बे समय से अग्नाशय कैंसर से पीड़ित थे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मनोहर पर्रिकर के निधन की पुष्टि की।
राष्ट्रपति ने ट्वीट कर मनोहर पर्रिकर के निधन पर दुख जताया। राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री पर्रिकर पिछले एक साल से बीमार चल रहे थे। भाजपा के इस वरिष्ठ नेता का स्वास्थ्य दो दिन पहले बहुत बिगड़ गया था। इससे पहले गोवा के मुख्यमंत्री कार्यालय ने बयान जारी कर मनोहर पर्रिकर की तबीयत बेहद नाजुक होने की जानकारी दी थी। गोवा के मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से ट्वीट कर बताया गया था कि, ‘मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की हालत बेहद गंभीर है। डॉक्टर उन्हें ठीक करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।’ उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों अचानक स्वास्थ्य में गिरावट के चलते उन्हें गोवा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। बीते शनिवार को भी जानकारी मिली थी कि मनोहर पर्रिकर की तबियत काफी बिगड़ गई है, लेकिन बीजेपी के तरफ से बयान आया कि उनके स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मनोहर पर्रिकर के निधन पर शोक जताया। उन्होंने ट्वीट किया, “मनोहर पर्रिकर एक अद्वितीय नेता थे। एक सच्चे देशभक्त और असाधारण प्रशासक, वह सभी की प्रशंसा करते थे। राष्ट्र के प्रति उनकी सेवा को पीढ़ियां याद रखेंगी। उनके निधन से गहरा दुख हुआ। उनके परिवार और समर्थकों के प्रति संवेदना।” भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने भी पर्रिकर के निधन पर दुख जताया।‌
केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मनोहर पर्रिकर के निधन पर शोक जताया। उन्होंने लिखा, “मनोहर पर्रिकर हमेशा अपनी ईमानदारी और सादगी के लिए याद रहेंगे।”
मनोहर पर्रिकर के निधन पर राहुल गांधी ने भी शोक जताया। उन्होंने कहा- गोवा के फेवरेट बेटे थे।
पर्रिकर के निधन पर केन्द्र सरकार ने 18 मार्च को राष्‍ट्रीय शोक की घोषणा की है। राजकीय सम्‍मान के साथ उनका अंतिम संस्‍कार किया जाएगा।
पर्रिकर के परिवार में दो पुत्र और उनका परिवार है। उनकी पत्नी की कई साल पहले मौत हो चुकी थी। राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पिछले एक साल से बीमार चल रहे भाजपा के वरिष्ठ नेता का स्वास्थ्य दो दिन पहले बहुत बिगड़ गया था। सूत्रों ने बताया कि पूर्व रक्षा मंत्री पर्रिकर शनिवार देर रात से ही जीवनरक्षक प्रणाली पर थे।
मनोहर पर्रिकर मार्च 2017 में रक्षा मंत्री का पद छोड़कर चौथी बार गोवा के मुख्यमंत्री बने थे। भारतीय राजनीति में मनोहर पर्रिकर की पहचान ‘मिस्टर क्लीन’ के रूप में रही। बेहद सरल और बिना तामझाम के जीवन जीने वाले मनोहर पर्रिकर हमेशा जनता से जुड़े रहने की कोशिश करते रहे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के करीबी माने जाने वाले मनोहर पर्रिकर का जन्म 13 दिसम्बर 1955 को मापुसा में हुआ था। मनोहर पर्रिकर ने 1978 में आईआईटी मुम्बई से ग्रेजुएशन किया। मनोहर पर्रिकर भारत के किसी राज्य के मुख्यमंत्री बनने वाले वह पहले व्यक्ति हैं, जिन्होंने आईआईटी ग्रेजुएशन किया था।