कोटा: विशुद्धमति माताजी का तीन दिवसीय स्वर्णिम संयम दीक्षा महोत्सव 7 मार्च से

0
60

न्यूज चक्र @ कोटा
सिद्धान्त रत्न गणिनी आर्यिका विशुद्धमति माताजी राष्ट्रीय स्वर्णिम संयम दीक्षा महोत्सव आयोजन समिति एवं सकल दिगम्बर जैन समाज समिति की बैठक रविवार को तलवण्डी स्थित जैन मंदिर में आयोजित की गई। इसमें 7 मार्च से आयोजित होने वाले राष्ट्रीय स्वर्णिम दीक्षा महोत्सव की तैयारियों का जायजा लिया गया। समिति के मीडिया समन्वयक नरेश जैन बैद ने बताया कि इस महा महोत्सव को सफल बनाने के लिए 21 समितियों का गठन कर कार्य विभाजन किया गया है।
बैठक में सकल दिगम्बर जैन समाज के अध्यक्ष विमल जैन नान्ता ने बताया कि स्वर्णिम संयम दीक्षा महा महोत्सव दशहरा मैदान में आयोजित किया जाएगा। समारोह के दौरान 1 हजार 452 इन्द्र-इन्द्राणियों के साथ दो दिवसीय गणधर वलय विधान का आयोजन किया जाएगा। इसके अलावा तलवण्डी स्थित जैन मंदिर से कार्यक्रम स्थल तक जैन महिला परेड निकलेगी। यह भी इस आयोजन में प्रमुख आकर्षण का केन्द्र रहेगी। उन्होंने बताया कि महाव्रतों की धारिका गणिनी मां की एक लाख दीपकों से महाआरती की जाएगी। यह वर्ल्ड बुक आॅफ रिकाॅर्ड्स में दर्ज होगी। कार्यक्रम के प्रथम दिन 7 मार्च को स्मारिका का विमोचन भी होगा। इस अवसर पर संगम यूनिवर्सिटी, भीलवाड़ा के चैयरमेन रामपाल सोनी विशुद्धमति माताजी को डी लिट् की उपाधि से अलंकृत करेंगे।
बैठक में सकल दिगम्बर जैन समाज के अध्यक्ष विमल जैन नान्ता, महामंत्री विनोद टोरड़ी, सुरेश चांदवाड़, कार्याध्यक्ष जेके जैन, प्रशासनिक मंत्री विकास अजमेरा, देवेन्द्र पांड्या, ऐश्वर्य पाटौदी, राजमल पाटौदी आदि मौजूद थे।
गोद भरी, बिनौली निकाली
इससे पहले सुबह महावीर नगर द्वितीय तथा शाम को छावनी जैन मंदिर में गोद भराई की गई। इस दौरान माताजी की बिनौली निकाली गई। यह प्रमुख मार्गाें से गुजरी। इस दौरान भगवान आदिनाथ के जयकारे गूंजते रहे। महिला बैण्ड के द्वारा मधुर स्वर लहरियां बिखेरी जा रहीं थीं। गोद भराई में अध्यक्ष दर्पण जैन, मंत्री ललित पाटनी, छावनी जैन समाज के अध्यक्ष कैलाश जैन सहित सकल दिगम्बर जैन के कई पदाधिकारी मौजूद थे। सोमवार को महावीर नगर प्रथम व रिद्धि सिद्धि नगर में गोद भराई की जाएगी।