भारतीय लड़ाकू विमानों ने पाकिस्तान में घुस तबाह किए आतंकी ठिकाने, करीब साढ़े तीन सौ आतंकी मारे गए

0
31

न्यूज चक्र @ सेन्ट्रल डेस्क
भारतीय वायुसेना ने आज (मंगलवार) तड़के पाकिस्तान में काफी अंदर तक घुस, जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को भारी बमबारी से तबाह कर पुलवामा हमले का बदला ले लिया। भारत की इस बड़ी कार्रवाई में तकरीबन साढ़े तीन सौ आतंकी, उनके ट्रेनर रिटायर्ड पाकिस्तानी फौजी अफसर आदि मारे गए। बौखलाए पाकिस्तान ने दिन अखनूर, मेंढर, नौशेरा सेक्टरों में सीजफायर का उल्लंघन कर गोलीबारी शुरू कर दी। भारतीय सेना इसका मुंहतोड़ जवाब दे रही है। पाकिस्तान ने भारत को गीदड़ भभकी भी दी है।
पाकिस्तान में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर भारत की तरफ से की गई एयर स्ट्राइक के बाद पाक सरकार में खलबली मच गई। पाक पीएम इमरान खान की अध्यक्षता में एनएससी (नेशनल सिक्योरिटी कमेटी) की बैठक हुई। इसके बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महूद कुरैशी ने भारत की तरफ से आतंकी ठिकानों को निशाना बनाने और बड़ी संख्या में आतंकियों के मारे जाने की खबर को खारिज किया। उन्होंने आगे कहा कि भारत की कार्रवाई का जवाब देने के लिए पाकिस्तान समय और जगह अपने हिसाब से तय करेगा।
पाक विदेश मंत्री ने अपने पीएम का हवाला देते हुए सेना और पाकिस्तान के लोगों को किसी भी स्थिति के लिए तैयार रहने को कहा। पाक मीडिया के अनुसार कुरैशी ने अपने बयान में कहा, ‘भारत की सरकार ने काल्पनिक दावे किए हैं। भारत की तरफ से चुनाव के दबाव के कारण यह कार्रवाई की गई है। इसके लिए क्षेत्रीय शांति को भी खतरे में डाला गया।’ यही नहीं, पाक मंत्री ने अपने बयान में भारत को जवाबी कार्रवाई की चुनौती भी दी।
सर्जिकल स्ट्राइक के दावे वाली जगह खुली है
पाक विदेश मंत्री कुरैशी ने कहा, ‘जिस जगह स्ट्राइक का दावा किया जा रहा है, वह खुली जगह है। दुनिया के लोग इसे देख सकते हैं। इसके लिए स्थानीय और अंतरराष्ट्रीय मीडिया को उस जगह पर ले जाया जाएगा। बैठक में तय किया गया कि भारत की कार्रवाई का जवाब देने के लिए पाकिस्तान समय और स्थान का चुनाव करेगा।’ पाक विदेश मंत्री के अनुसार पाक पीएम ने सेना और पाकिस्तान के लोगों को सभी तरह के हलात के लिए तैयार रहने को कहा है।
इस बीच, खबर है कि पाकिस्तानी एजेंसियां और सेना हमले वाली जगह को साफ करने में जुटी हुई है। दरअसल, पाकिस्तान कल (बुधवार) सुबह अंतरराष्ट्रीय पत्रकारों के एक समूह को बालाकोट में उस जगह पर ले जाने की तैयारी कर रहा है, जहां भारतीय वायुसेना ने जैश-ए-मोहम्मद के कैम्प को तबाह किया है। आज पत्रकारों को न ले जाने के पीछे पाकिस्तान ने मौसम का बहाना बना लिया। हालांकि सच्चाई यह है कि इस दौरान वह आतंकियों के शवों और अन्य चीजों को हटाने में जुट गया है।