एसपी ममता ने इन छात्राओं की प्रतिभा को सराहा, जानें क्यों है खास!

0
286
  • न्यूज चक्र @ बून्दी
    जिला पुलिस अधीक्षक ममता गुप्ता ने कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय, माटूंदा की छात्राओं के उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए उनकी प्रतिभा की खुलकर प्रशंसा की। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि पहले के जमाने में भी अगर बालिकाओं को इसी तरह की सुविधाएं और प्रशिक्षण मिलता तो आज देश अधिक तरक्की कर गया होता। एसपी ममता शनिवार को माटूंदा गांव में आयोजित आवासीय विद्यालय के किशोरी मेले के उद्घाटन समारोह को मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित कर रहीं थीं।
    एसपी ममता ने कहा कि जब भी मुझे ऐसी बालिकाओं से मिलने का मौका मिलता है तो बहुत अच्छा लगता है। मुझे यह जानकर बहुत खुशी हुई कि आपके आवासीय विद्यालय में स्पोर्ट्स के साथ आत्मरक्षा का प्रशिक्षण भी दिया जाता है। पढ़ना भी बहुत जरूरी है। हो सकता है आज इसकी अहमियत समझ में न आए, मगर बाद में इसका अहसास होता है। एसपी ममता ने बालिकाओं को यह सलाह भी दी कि जब भी कोई समस्या हो वे बिना झिझके टीचर्स को बताएं और समाधान करें।
    एसपी ममता ने आयोजन स्थल पर आवासीय विद्यालय की छात्राओं के द्वारा लगाए गए तकरीबन दो दर्जन विभिन्न स्टॉल्स का अवलोकन भी किया। सभी स्टॉल्स पर सम्बन्धित छात्राओं ने उनसे रोचक सवाल पूछे, जिनका ममता गुप्ता ने सहजता से मुस्कुराते हुए जवाब दिया। बीच-बीच में वह प्रतिक्रिया स्वरूप कहती रहीं-कितनी नॉलेज है इन्हें, कितनी क्यूरोसिटी है इन बच्चों में! गणित, विज्ञान से लेकर करीब-करीब सभी विषयों के सम्बन्ध में ये स्टॉल लगाए गए थे।
    कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए माटूंदा ग्राम पंचायत सरपंच महेन्द्र कुमार शर्मा ने आवासीय विद्यालय की छात्राओं की प्रतिभा व उनकी उपलब्धियों की जानकारी दी। साथ ही विश्वास जताया कि आगे भी ये बालिकाएं इसी प्रकार प्रगति कर विद्यालय का नाम रोशन करेंगी। उन्होंने इसके लिए विद्यालय स्टाफ की भी तारीफ की। इस अवसर पर प्रिंसिपल भावना व्यास ने विद्यालय व इसकी गतिविधियों के साथ छात्राओं की उपलब्धियों की जानकारी भी दी। उन्होंने बताया कि विद्यालय में मनोरंजन के साथ ज्ञानवर्धक गतिविधियां भी होती हैं। छात्राओं को आत्मरक्षा के लिए जूड़ो कराटे भी सिखाया जाता है।
    विशिष्ट अतिथि बालिका शिक्षा अभियान के परियोजना अधिकारी राजेन्द्र भारद्वाज ने बताया कि किशोरी मेले जैसी गतिविधियों का उद्देश्य छात्राओं की साहित्यिक, सांस्कृतिक व अन्य प्रतिभाओं को विकसित कर सामने लाना भी है। ऐसी गतिविधियों से इनका आईक्यू लेवल बढ़ता है। उन्होंने माटूंदा आवासीय विद्यालय की छात्राओं की प्रशंसा करते हुए कहा कि ये हर क्षेत्र में आगे हैं। साथ ही बताया कि जिले के सभी आवासीय विद्यालयों में नामांकन लक्ष्य से अधिक है। इस मौके पर ‘सेव द चिल्ड्रन’ अभियान की प्रभारी निवेदिता सक्सेना ने विद्यालय की लायब्रेरी के लिए कहानियों की 150 पुस्तकों के अलावा हैल्थ किट भी भेंट किया।
    कार्यक्रम में आवासीय विद्यालय की छात्राओं ने जूड़ो कराटे का आकर्षक प्रदर्शन किया। इसके अलावा उन्होंने एकल व समूह नृत्य सहित अन्य सांस्कृतिक गतिविधियां भी प्रस्तुत कीं। इस अवसर पर तालेड़ा सीनियर सैकंडरी स्कूल के प्रिंसिपल कांता पावा, प्रिंसिपल गिर्राज प्रसाद, ग्राम विकास अधिकारी रघुबीर सिंह, उप सरपंच रामलाल वर्मा, विद्यालय छात्रावास की निवर्तमान सचिव मनीषा सैनी, वार्डन मंजू मीणा, अध्यापिकाएं शशि शर्मा, अनिता मीणा,सीमा यादव, पंचायतकर्मी सविता आदि भी मौजूद थे।
    कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि एसपी ममता गुप्ता ने मां सरस्वती की तस्वीर के समक्ष दीप प्रज्वलित कर किया। बाद में किशोरी मेले का फीता काट कर उद्घाटन किया और स्टाल भी देखे।अंत में सभी अतिथियों को स्मृति चिह्न भेंट किए गए। प्रारम्भ में पंचायत की ओर से सरपंच शर्मा ने एसपी ममता का शाल ओढ़ाकर स्वागत किया। संचालन जय प्रकाश त्रिपाठी ने किया। गौरतलब है कि कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में एससी/एसटी, बीपीएल परिवारों की वो बालिकाएं अध्ययनरत हैं, जो पूरी में अपनी पढ़ाई छोड़ चुकी थीं।