राजस्थान: खींचतान खत्म, हो गया मंत्रियों के विभागों का बटवारा

0
287

न्यूज चक्र @ जयपुर
सीएम अशोक गहलोत व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के बीच मंत्रियों के विभागों(मंत्रालयों) के बटवारे को लेकर चल रही खींचतान बुधवार देर रात दूर हुई। इसके बाद रात 2 बजे करीब राज्यपाल के हस्ताक्षर के बाद सचिवालय ने सूची जारी कर दी। इसमें सीएम गहलोत ने वित्त, आबकारी, गृह, जीएडी सहित 9 विभाग अपने पास रखे हैं। वहीं डिप्‍टी सीएम पायलट को पीडब्‍ल्‍यूडी और ग्रामीण विकास सहित 5 विभाग दिए गए। वरिष्‍ठ मंत्रियों बीडी कल्ला को ऊर्जा, शांति धारीवाल को यूडीएच, रघु शर्मा को चिकित्सा, प्रतापसिंह खाचरियावास को परिवहन मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई है। कुल मिलाकर इस निर्णय को भी टिकट बटवारे की तरह सीएम गहलोत की जीत के रूप में ही देखा जा रहा है।
अन्य मंत्रालयों में कैबिनेट मंत्री प्रमोद जैन भाया को खान, परसादीलाल मीणा को उद्योग, लालचंद कटारिया को कृषि, मास्टर भंवरलाल को सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्रालय सौंपे गए हैं। सभी राज्य मंत्रियों को एक-दो विभागों का स्वतंत्र प्रभार भी दिया गया।
वहीं राज्य मंत्रियों में गोविंद सिंह डोटासरा को शिक्षा-प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार), पर्यटन, देवस्थान और एकमात्र महिला मंत्री ममता भूपेश को महिला एवं बाल विकास (स्वतंत्र प्रभार), जनअभियोग निराकरण, अल्पसंख्यक मामले और वक्फ़ की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है। अर्जुन सिंह बामनिया को जनजाति क्षेत्रीय विकास (स्वतंत्र प्रभार), उद्योग राजकीय उपक्रम, भंवर सिंह भाटी को उच्च शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार), राजस्व उपनिवेशन कृषि सिंचित क्षेत्रीय विकास एवं जल उपयोगिता, सुखराम विश्नोई को वन विभाग (स्वतंत्र प्रभार), पर्यावरण विभाग (स्वतंत्र प्रभार), खाद्य-नागरिक आपूर्ति, उपभोक्ता मामले, अशोक चांदना को युवा मामले व खेल (स्वतंत्र प्रभार), कौशल-नियोजन व उद्यमिता (स्वतंत्र प्रभार), परिवहन, सैनिक कल्याण, टीकाराम जूली को श्रम विभाग (स्वतंत्र प्रभार), कारखाना व बॉयलर्स निरीक्षण (स्वतंत्र प्रभार), सहकारिता, इंदिरा गांधी नहर परियोजना का प्रभार सौंपा है।
इसी क्रम में भजनलाल जाटव गृह रक्षा, नागरिक सुरक्षा (स्वतंत्र प्रभार), मुद्रण-लेखन सामग्री विभाग (स्वतंत्र प्रभार), कृषि विभाग, पशुपालन, मत्स्य, राजेन्द्र सिंह यादव आयोजना जनशक्ति (स्वतंत्र प्रभार), स्टेट मोटर गैराज विभाग (स्वतंत्र प्रभार), भाषा विभाग(स्वतंत्र प्रभार), सामाजिक न्याय व अधिकारिता, आपदा प्रबंधन व सहायता और डॉ. सुभाष गर्ग तकनीकी शिक्षा(स्वतंत्र प्रभार), संस्कृत शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार), चिकित्सा शिक्षा व स्वास्थ्य, आयुर्वेद व भारतीय चिकित्सा, चिकित्सा व स्वास्थ्य सेवाएं (ईएसआई), सूचना व जनसम्पर्क विभाग की जिम्‍मेदारी उठाएंगे।
यह पहला मौका है जब स्वतंत्र प्रभार वाले कुछ मंत्रियों की जगह सभी 13 राज्य मंत्रियों को ही किसी न किसी महकमे का स्वतंत्र प्रभार दिया गया है। शुक्रवार को गहलोत सरकार की पहली कैबिनेट बैठक बुलाई जा सकती है।