कॅरिअर पॉइंट यूनिवर्सिटी करेगी पत्तों से ईंधन व बिजली बनाने पर रिसर्च

0
54

न्यूज चक्र @ कोटा/हमीरपुर
कॅरिअर पॉइंट यूनिवर्सिटी, हमीरपुर पेड़ के सूखे पत्तों से ईंधन व बिजली बनाने पर रिसर्च करेगी। उसके इस प्रोजेक्ट को हिमाचल प्रदेश काउंसिल फॉर साइंस, टेक्नोलॉजी एंड एनवायरमेंट (हिमकोस्ट) शिमला से स्वीकृति मिल गई है। इस रिसर्च पर होने वाला समस्त खर्च हिमाचल सरकार वहन करेगी।
कॅरिअर पॉइंट ग्रुप के निदेशक ओम माहेश्वरी ने बताया कि यूनिवर्सिटी अब रिसर्च के क्षेत्र में लगातार फोकस कर रही है। यहां अध्ययनरत शोधार्थी सकारात्मक माहौल में विभिन्न विषयों पर शोध कर नए आयाम स्थापित कर रहे हैं। कॅरिअर पॉइंट यूनिवर्सिटी के मैकेनिकल इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. वैभव के नेतृत्व में 10 सदस्यीय टीम ने इस दिशा में सफल शोध भी किया है। पत्तों को एकत्र करके उन्हें ठोस बनाकर ईंट जैसा आकार दिया गया है। ये ईंट ईंधन के रूप में काम में ली जा सकती है। जंगल में पाए जाने वाले पाइन प्रजाति के पेड़ की पत्तियां अत्यंत ज्वलनशील होती हैं। पतझड़ के दिनों में यह यह जंगल में काफी मात्रा मिलती हैं। रिसर्च के दौरान इन पत्तियों को एकत्र कर ठोस आकार देकर ईंधन व बिजली बनाने की अपार सम्भावना है। इस पेड़ की पत्तियों को एकत्र कर इसमें एक निश्चित मात्र में मिट्टी मिलाकर ठोस आकृति प्रदान करते हैं। इससे ईंधन व बिजली बनाने का सफल प्रयोग भी यूनिवर्सिटी ने हाल ही में किया है। अब इस दिशा में रिसर्च प्रोजेक्ट के तहत हिमाचल सरकार से अनुमति मिलने के बाद बड़े पैमाने पर कार्य शुरू किया जा रहा है। डॉ. वैभव ने बताया कि आईआईटी मुम्बई को भी पत्तों से तैयार ईंट के सैम्पल जांच के लिए भेजे थे, जिसकी रिपोर्ट भी सकारात्मक आई है।
बेरोजगारों को मिल सकेगा रोजगार
कॅरिअर पॉइंट के निदेशक ओम माहेश्वरी बताते हैं कि इस तरह के शोध कार्य से काफी फायदा मिलेगा। इससे जंगल में आग लगने से तो निजात मिलेगी ही, साथ ही पत्तों को एकत्र करने के लिए जरूरतमंद लोगों को रोजगार के अवसर भी मुहैया हो सकेंगे।
पत्तों से बनी ईंट सर्दी में रूम गर्म रखेगी, बिजली भी बन सकेगी
यूनिवर्सिटी के मैकेनिकल इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. वैभव ने बताया कि पत्तों से बनी ईंट का बर्फीले क्षेत्रों में सर्दी से राहत के लिए ईंधन के रूप में उपयोग हो सकेगा। ऐसी ईंटों को रूम में जलाकर रखा जा सकता है। इससे बिजली भी बनाई जा सकती है।
शोध की दिशा में बढ़ावा देना प्राथमिकता
कॅरिअर पॉइंट यूनिवर्सिटी के चांसलर प्रमोद माहेश्वरी का कहना है कि वर्तमान प्रतिस्पर्धा के इस दौर में नित नए नवाचार सामने आ रहे हैं। ऐसे माहौल में कॅरिअर पॉइंट यूनिवर्सिटी की प्राथमिकताओं में शोध कार्यों को प्रोत्साहन देना भी शामिल है। इसके लिए हर सम्भव प्रयास जारी है, ताकि शोधार्थियों को बढ़ावा मिले।