नीट- 2019 : ऑनलाइन आवेदन के लिए दो दिन और बाकी

497 मेडिकल कॉलेज व 60 हजार 680 एमबीबीएस सीटों के लिए होनी है ये परीक्षा

0
117

न्यूज चक्र @ कोटा
देश की सबसे बड़ी मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट-2019 के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 30 नवम्बर 2019 है। फीस 1 दिसम्बर 2019 तक जमा कराई जा सकेगी। शंका निवारण पर त्वरित कार्यवाही के लिए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा त्रुटि सुधार के लिए लगभग एक पखवाड़े का समय दिया जाएगा।
कॅरिअर पॉइंट के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट देव शर्मा ने बताया कि 14 जनवरी 2019 से 31 जनवरी 2019 तक विद्यार्थी फॉर्म फिलिंग के दौरान हुई भूल को सुधार सकते हैं। 15 अप्रैल 2019 को विद्यार्थियों के एडमिट कार्ड नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की वेबसाइट पर अपलोड कर दिए जाएंगे। परीक्षा केन्द्र की जानकारी विद्यार्थी अपने एडमिट कार्ड पर ही प्राप्त कर पाएगा।
पहली बार अपराह्न में होगी परीक्षा
नीट के इतिहास में यह पहली बार होगा की परीक्षा का आयोजन दोपहर पश्चात किया जाएगा। अब तक यह परीक्षा सुबह 10 से दोपहर 1 बजे तक होती आई है। देशभर में कुल डेढ़ सौ से अधिक परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं। राजस्थान में कोटा, अजमेर, बीकानेर जयपुर, जोधपुर व उदयपुर में परीक्षा केन्द्र बनाया गया है।
कन्फर्मेशन पेज नहीं तो आवेदन पूर्ण नहीं
देव शर्मा ने बताया कि ऑनलाइन फॉर्म फिलिंग के चार चरणों में यदि फीस जमा हो जाती है, किंतु कन्फर्मेशन पेज जनरेट नहीं होता तो यह आवेदन पूर्ण नहीं है। आवेदन की प्रक्रिया की पूर्णता के लिए कन्फर्मेशन पेज का जनरेट होना आवश्यक है। इसलिए विद्यार्थियों व अभिभावक कन्फर्मेशन पेज जनरेट होने पर ही आवेदन को पूर्ण मानें। यदि ऐसा नहीं हो रहा है तो तुरंत विशेषज्ञों द्वारा मार्गदर्शन लें। कन्फर्मेशन पेज की हार्ड कॉपी को नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के कार्यालय को नहीं भेजना है, इसे विद्यार्थी संभाल कर रखें।
एम्स-एमबीबीएस की आवेदन प्रक्रिया का आधारभूत पंजीकरण 30 से शुरू
देश की अति प्रतिष्ठित मेडिकल प्रवेश परीक्षा एम्स-एमबीबीएस की आवेदन प्रक्रिया का प्रथम चरण 30 नवम्बर 2018 से प्रारम्भ कर दिया जाएगा। देव शर्मा ने बताया कि प्रथम चरण, जिसे आधारभूत पंजीकरण का नाम दिया गया है, 30 नवम्बर 2018 से 3 जनवरी 2019 तक होगा। इसके बाद 7 जनवरी 2019 आवेदन फॉर्म की स्थिति ऑनलाइन स्पष्ट कर दी जाएगी, ताकि विद्यार्थी फॉर्म संबंधित त्रुटियों को सुधार सकें। त्रुटि सुधार के लिए 8 जनवरी से 18 जनवरी 2019 तक का समय दिया जाएगा। 22 जनवरी 2019 को विद्यार्थी अपने आवेदन फॉर्म के स्वीकार्यता या अस्वीकार्यता की अंतिम स्थिति को जान पाएंगे।
यूनिक आइडेंटिफिकेशन नम्बर व अंतिम पंजीकरण
29 जनवरी 2019 से प्रोस्पेक्टस अपलोड के कार्य के साथ ही विद्यार्थियों को यूनीक आईडेंटिफिकेशन नम्बर जारी करने की प्रक्रिया भी प्रारम्भ कर दी जाएगी। यह प्रक्रिया 17 फरवरी 2019 तक जारी रहेगी। देव शर्मा ने बताया कि 21 फरवरी 2019 से लेकर 12 मार्च 2019 तक फीस पेमेंट तथा परीक्षा केन्द्र चयन के साथ ही अंतिम पंजीकरण की प्रक्रिया जारी रहेगी। एम्स-एमबीबीएस की प्रतिष्ठित परीक्षा 25 मई शनिवार व 26 मई रविवार 2019 को दो पारियों में होगी।
6 नए एम्स प्रारम्भ, लेकिन सीटों की संख्या स्पष्ट नहीं
देव शर्मा ने बताया कि ऑफिशियल वेबसाइट पर अपलोड किए गए नोटिस में 6 नए एम्स के प्रारम्भ की जानकारी दी गई है। 2018 तक एम्स की संख्या 9 थी तथा सीटों की संख्या भारतीय विद्यार्थियों के लिए 800 थी तथा विदेशी विद्यार्थियों के लिए दिल्ली एम्स में 7 सीटें उपलब्ध थी। गुंटुर तथा नागपुर एम्स में सीटों की संख्या क्रमशः 50 थी। अन्य सभी एम्स में 100 सीटें उपलब्ध थीं। उपरोक्त नोट में नए खुलने वाले एम्स में सीटों की संख्या को स्पष्ट नहीं किया गया है, किन्तु यदि प्रत्येक नए एम्स को 50 सीटें भी प्रदान की जाएं तो निश्चित तौर पर 300 सीटों की वृद्धि होगी। इस स्थिति में भारतीय विद्यार्थियों के लिए उपलब्ध सीटों की संख्या का आंकड़ा 1000 को पार कर जाएगा। बढ़ी हुई सीटों की यह संख्या विद्यार्थियों को अधिक अवसर प्रदान करेगी। शैक्षिक नगरी कोटा इस निर्णय का स्वागत करेगी।