बागी विधायक ज्ञानदेव आहूजा के लिए भाजपा फिर बन गई ‘मां’

0
174

न्यूज चक्र @ जयपुर
विधान सभा चुनाव में टिकट नहीं मिलने से खफा होकर सांगानेर सीट के लिए निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन दाखिल करने वाले भाजपा के दिग्गज ज्ञानदेव आहूजा को आखिरकार पार्टी मनाने में कामयाब हो गई। इसके बाद उन्होंने अपना नाम वापस लिया तो उन्हें भाजपा ने प्रदेश उपाध्यक्ष पद से नवाज दिया। प्रदेश अध्यक्ष मदन लाल सैनी ने इसके आदेश जारी कर दिए हैं।
उल्लेखनीय है कि अलवर जिले के रामगढ़ से विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने इस बार टिकट नहीं मिलने से राज्य की चर्चित सीट सांगानेर से निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया था। इससे इस सीट पर पार्टी की ओर से प्रत्याशी बनाए गए जयपुर मेयर अशोक लाहोटी को नुकसान होने की आशंका पैदा हो गई थी। माना जा रहा था कि आहूजा यहां के सिंधी और पंजाबी वोटों में सेंध लगा सकते हैं, जिनकी यहां अच्छी तादाद है। भाजपा इसके चलते उन्हें मनाने की कोशिश करती रही। उधर, आहूजा ने भी कहा था कि वे जीत के बाद भाजपा में ही जाएंगे।
माना जा रहा है आहूजा ने नामांकन वापसी का निर्णय राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से जयपुर एयरपोर्ट पर हुई मुलाकात के बाद लिया। उन्होंने शाह से पार्टी उम्मीदवार का समर्थन करने का वादा भी किया।
पार्टी की ओर से प्रदेशाध्यक्ष बनाए जाने के बाद आहूजा ने कहा, ‘पार्टी मेरी मां है, और मैं इसकी अंतिम दम तक सेवा करूंगा।’ बड़ी बात यह है कि आहूजा सांगानेर से अपने चिरपरिचित मुद्दे हिन्दुत्व को लेकर ही चुनाव लड़ने वाले थे। इससे काफी वोट कटने की आशंका से भाजपा में खलबली मच गई थी।
ज्ञानदेव आहूजा अलवर जिले की रामगढ़ सीट से लगातार दो बार से विधायक रहे हैं। 1993 में पहली बार रामगढ़ से चुनाव लड़ा था, लेकिन उन्होंने 1998 में पहली बार जीत हासिल की थी। हालांकि 2003 के चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा, जबकि 2008 और 2013 में उन्हें जीत मिली। वे अपने विवादत बयानों के कारण अक्सर चर्चा में रहे हैं। उनकी सबसे ज्यादा आलोचना जेएनयू को लेकर दिए गए बयान में हुई थी। इसमें उन्होंने कहा था क‌ि जेएनयू में रोज करीब दस हजार हड्डी के टुकड़े और तीन हजार से ज्यादा इस्तेमाल किए हुए कंडोम मिलते हैं। यही नहीं उन्होंने दावा किया था कि 500 से ज्यादा इस्तेमाल किए हुए अबॉर्शन इंजेक्शन भी जेएनयू में मिलते हैं। उनके ऐसे बयानों के बाद ही यह तय माना जा रहा था कि पार्टी इस बार उन्हें टिकट नहीं देगी।