कोटा के एक पार्षद ने कहा-सेना करती है महिलाओं से गलत हरकतें

0
424
कोटा। मसूद अली अंसारी की फेसबुक प्रोफाइल।

न्यूज चक्र @ कोटा
जिले की कैथून नगर पालिका के पार्षद एवं कांग्रेस नेता मसूद अली अंसारी का मानना है कि कश्मीर में सेना महिलाओं से ज्यादती करती है। इसलिए ही वहां के युवा आतंकी और पत्थरबाज बन रहे हैं। एक फेसबुक पोस्ट पर की गई टिप्पणी से उनका यह मंतव्य साफ जाहिर हो रहा है।
दरअसल, एक फेसबुक यूजर ने अपनी पोस्ट में लिखा कि पत्थरबाजों को भी आतंकी माना जाए, शूट एट साइट (देखते ही गोली मारी जाए) हो। इस पर मसूद ने टिप्पणी की- आप उनकी मां, बहिन, बेटियों के साथ गलत हरकतों का परिचय दोगे तो, क्या करेंगे। मसूद की फेसबुक प्रोफाइल के अनुसार वे कैथून नगर पालिका के पार्षद हैं। साथ ही कांग्रेस के छा़त्र संगठन एनएसयूआई व युवा कांग्रेस से उनका नाता है। कांग्रेस के एक जिम्मेदार नेता का यह बड़ा विवादित बयान उस समय सामने आया है, जबकि राज्य में विधानसभा चुनावों की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है। साथ ही कांग्रेस देशभक्ति के मुद्दे पर भाजपा के सामने अपनी छवि बेदाग दिखाने की मशक्कत में जुटी हुई है। इससे पूर्व गुलाम नबी आजाद, मणिशंकर अय्यर, शशि थरूर जैसे नेताओं की विवादित टिप्पणियों से भी कांग्रेस की विचार धारा पर देश में बवाल मच चुका है।

कोटा। फेसबुक पोस्ट और उस पर की गई मसूद अली अंसारी की टिप्पणी ।

कैथून पर एक दृष्टि
कांग्रेस नेता मसूद अली कोटा जिले के जिस कैथून क्षेत्र से आते हैं, वह मुस्लिम बहुल इलाका है। यहीं पर देशभर में प्रसिद्ध कोटा डोरिया साडियां बनती हैं। यहां मुस्लिम समाज के अधिकतर लोग सम्पन्न हैं। इसी के साथ यह क्षेत्र कोटा जिले में साम्प्रदायिक दृष्टि से बेहद संवेदनशील माना जाता है। ऐसे में समझा जा सकता है कि जिस समाज के एक जन प्रतिनिधि के अपनी देश की सेना के बारे में ही ऐसे जहरीले विचार हों, तो निश्चित रूप से वह यह जहर अपने समाज के अन्य लोगों में भी फैलाता होगा। उसके ऐसे विचारों से उसके समाज के लोग प्रभावित भी होते ही होंगे, क्योंकि जनप्रतिनिधि को लोग अधिक सम्मान देते हैं। अब देखना यह है कि कांग्रेस इस पर क्या एक्शन लेती है।