सवा सौ साल पुराने दशहरा मेले के रावण की कद, काठी और वजन भी बढ़ा

इस बार 101 फीट का दशानन दिखेगा राजस्थानी धोती में, वजन होगा 10 टन

0
136

न्यूज चक्र @ कोटा
ख्याति प्राप्त राष्ट्रीय दशहरा मेले में इस बार दहन किए जाने वाले रावण के कुनबे के पुतले कुछ अलग ही लुक लिए होंगे। रावण राजस्थानी धोती पहने व अन्य आकर्षक परिधानों में दिखाई देगा तो कुम्भकर्ण व मेघनाद के परिधान भी पहले से अधिक चटकीले रंगों वाले व आकर्षक होंगे। इसके अलावा रावण का पुतला इस बार 101 फीट ऊंचा होगा। कुम्भकर्ण और मेघनाद भी पहले से ज्यादा मोटे व तगड़े दिखेंगे।
रावण व उसके कुनबे के सदस्यों के पुतले सीएडी चौराहा स्थित अम्बेडकर भवन में बनकर तैयार हो चुके हैं। अब बस इन्हें फाइनल टच दिया जा रहा है। निगम आयुक्त व मुख्य मेला अधिकारी जुगल किशोर मीणा ने बताया कि इस बार रावण के पुतले का वजन तकरीबन 10 टन होगा। वहीं कुम्भकर्ण व मेघनाद के पुतले भी करीब सवा-सवा टन वजनी होंगे। आयुक्त मीणा ने बताया कि 19 अक्टूबर की शाम मुहूर्त के समय रंगीन आतिशबाजी के आकर्षक नजारों के साथ रावण के कुनबे का दहन होगा। एक दिन पूर्व 18 अक्टूबर को ही इन पुतलों को दशहरा मेला मैदान में खड़ा कर दिया जाएगा।
पहले निकलेगी सवारी
रावण व उसके कुनबे के सदस्यों के दहन से पहले शाम को गढ़ पैलेस से भगवान लक्ष्मीनाराण जी की सवारी निकाली जाएगी। रावण दहन के दिन यहां हर तरफ सुरक्षा के चाक-चौबंद बंदोबस्त रहेंगे।
अतिरिक्त मेला अधिकारी प्रेमशंकर शर्मा ने बताया कि गत साल साल रावण 72 फीट ऊंचा था। इस बार 125 वां मेला दशहरा है, ऐसे में यहां रावण का कद भी काफी बढ़ा‌या गया है। उन्होंने बताया कि रावण की घघरी को राजस्थानी धोती का लुक दिया है। कम्भकर्ण व मेघनाद 55-55 फीट के होंगे। दहन के समय दर्शकों को असुविधा से बचाने के लिए पर्याप्त बेरिकेड्स लगाए जाएंगे।
तलवार घुमाएगा, आंखें टिमटिमाएगा, अट्टहास भी करेगा रावण
मेला अधिकारी व नगर निगम की उपायुक्त श्वेता फगेड़िया ने बताया कि फतेहपुर सीकरी के नईम अहमद की टीम रावण, कुम्भकर्ण व मेघनाद के पुतले तैयार कर रही है। इस बार रावण की ड्रेस का रंग भी बदला गया है। रावण के पैरों में सुनहरे रंग की जोधपुरी जूतियां होंगी। पिछले वर्षों की भांति वो इस बार भी तलवार चलाएगा, आंखें टिमटिमाएगा, गर्दन घुमाएगा और अट्टहास भी करेगा। कुम्भकर्ण व मेघनाद भी तलवार घुमाएंगे। इस दौरान कार्यक्रम के उद्धोषक रावण से जुड़ी रोचक जानकारियां देंगे। इस बीच रावण का जोरदार अट्टहास भी सुनाई देता रहेगा।
अतिरिक्त मेला अधिकारी प्रेमशंकर शर्मा ने बताया कि रावण का मुकुट सुंदर दिखे और गत सालों से कुछ हटकर दिखे, इसलिए इसे इस बार जरा सा बढ़ाया गया है। मेघनाद व कुम्भकर्ण कमजोर नजर न आएं, इसलिए इनकी मोटाई भी बढ़ाई गई है। कुम्भकर्ण नीले व मेघनाद गुलाबी परिधान में दिखेगा।