एलडीसी की परीक्षा देते 2 फर्जी उम्मीदवारों सहित 6 आरोपी गिरफ्तार

0
387

न्यूज चक्र @ बून्दी
शहर में रविवार को विभिन्न परीक्षा केन्द्रों पर हुई लिपिक ग्रेड सैकंड/कनिष्ठ सहायक संयुक्त सीधी भर्ती परीक्षा 2018 के दौरान दो केन्द्रों पर वास्तविक उम्मीदवारों की जगह परीक्षा देते दो फर्जी उम्मीदवार व एक उम्मीदवार सहित उनके तीन अन्य सहयोगियों को गिरफ्तार किया गया। खास बात यह है कि वास्तविक उम्मीदवार राजस्थान के ही करौली जिले के, वहीं उनकी जगह परीक्षा देने वाले बिहार के नालंदा जिले के निवासी हैं। आरोपियों से एक कार भी जब्त की गई । पुलिस का दावा है कि इस सफलता से उसने नकल करवाने वाली अन्तरराज्यीय गैंग का खुलासा कर दिया है। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।
एसपी ओम प्रकाश ने इस सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि इम्मानुएल सीनियर सैकंडरी स्कूल व सीनियर सैकंडरी स्कूल में परीक्षा दे रहे एक-एक परीक्षार्थी के फोटो पात्र अभ्यर्थियों से नहीं मिल रहे थे। यह सूचना मिलने पर डीएसपी समदर सिंह व थाना कोतवाली प्रभारी उपनिरीक्षक हरिराम मय जाप्ते के मौके पर पहुंचे। वहां इन्होंने जांच की तो पाया कि संदिग्ध परीक्षार्थियों के फोटो व हस्ताक्षर प्रवेश पत्र व अन्य रिकॉर्ड में उपलब्ध फोटो व हस्ताक्षर से मेल नहीं खा रहे हैं। पूछताछ करने पर इन्होंने वास्तविक उम्मीदवारों की जगह परीक्षा देने की बात कबूल कर ली। इसके बाद दोनों परीक्षा केन्द्रों के केन्द्राधीक्षकों की ओर से इस सम्बन्ध में एफआईआर दी गई।
इन एफआईआर के अनुसार इम्मानुएल स्कूल में संतोष मीणा पुत्र जमुना लाल निवासी रुंदपुरा, मासलपुरा, जिला करौली के स्थान पर रितेश उर्फ आदित्य (23) पुत्र रविशंकर स्वर्णकार निवासी झौर, तहसील कुचगांव, थाना बासलीगंज, जिला नालंदा (बिहार) द्वारा परीक्षा देना व राजकीय सीनियर सैकंडरी स्कूल में विरेन्द्र सिंह मीणा (19 ) पुत्र धीर सिंह निवासी शेखपुरा, जिला करौली के स्थान पर सुधांशु (23) पुत्र सुबोध प्रसाद चौधरी निवासी गईवी, पोस्ट हितासन, थाना रहुई, जिला नालंदा (बिहार) द्वारा परीक्षा देना पाया गया। इनके अलावा स्कूल के बाहर से विरेन्द्र मीणा, जिसके द्वारा अपने स्थान पर सुधांशु से परीक्षा दिलवाई जा रही थी तथा उसके साथ अखलेश (20) पुत्र  हरगुन मीणा निवासी फूलवाड़ा, थाना वजीरपुर, जिला सवाईमाधोपुर, धर्मेन्द्र (23) पुत्र गिलास मीणा निवासी डेरिया, थाना नाहोती जिला करौली तथा हेम सिंह मीणा (22) पुत्र गबरूराम निवासी कोटरा, थाना हिण्डोन सिटी, जिला करौली को स्वीफ्ट डिजायर कार नम्बर आरजे 34 टीए 1408 के साथ गिरफ्तार कर लिया। एसपी ओमप्रकाश ने बताया कि आरोपियों का गिरोह वास्तविक अभ्यर्थियों के स्थान पर फर्जी परीक्षार्थियों से परीक्षा दिलवाकर उन्हें उत्तीर्ण करवाने का धंधा करता है। इनके खिलाफ प्रकरण संख्या 391/2018 में आईपीसी की धारा 419, 420, 467, 468, 471 व 120 बी तथा 3/6 राजस्थान सार्वजनिक परीक्षा (अनुचित साधनों की रोकथाम अधिनियम) के तहत केस दर्ज कर अनुसंधान शुरू कर दिया है। आरोपियों से पूछताछ भी जारी है। इनकी धरपकड़ में सदर थानाधिकारी, नमाना थानाधिकारी व यातायात प्रभारी सहित अधीनस्थ जाप्ते का भी विशेष योगदान रहा।