अनिल अम्बानी की कम्पनियों ने किया कांग्रेस के अखबार पर 5000 करोड़ की मानहानि का केस

0
97

न्यूज चक्र @ अहमदाबाद/सेन्ट्रल डेस्क
अनिल अम्बानी के रिलायंस समूह की कम्पनियों ने कांग्रेस के स्वामित्व वाले समाचार पत्र नेशनल हेराल्ड के खिलाफ 5000 करोड़ रुपए की मानहानि का मुकदमा दायर किया है। इन कम्पनियों ने दावा किया कि समाचार पत्र ने राफेल विमान करार को लेकर फर्जी और अपमानजनक लेख प्रकाशित किए।
रिलायंस डिफेंस, रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर और रिलायंस एयरोस्ट्रक्चर ने एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड, नेशनल हेराल्ड के पब्लिशर, एडिटर इंचार्ज जफर आगा और लेख के लेखक विश्वदीपक के खिलाफ दीवानी मानहानि का मुकदमा दायर कराया है।
ये कम्पनियां अनिल अम्बानी के रिलायंस समूह का हिस्सा हैं। यह मुकदमा शुक्रवार को शहर की सिविल और सत्र न्यायाधीश पीजे तामकुवाला की अदालत में दर्ज कराया गया। कोर्ट ने मुकदमे में वादी बनाए गए लोगों को नोटिस जारी कर 7 सितम्बर तक जवाब देने को कहा है।
दायर मुकदमे में कम्पनियों ने आरोप लगाया है कि मोदी के राफेल सौदे के ऐलान से 10 दिन पहले अनिल अम्बानी ने बनाई रिलायंस डिफेंस शीर्षक नामक लेख झूठा और अपमानजनक है। यह लेख जनता को गुमराह करने वाला है। यह रिलायंस समूह और चेयरमैन अनिल अम्बानी की नकारात्मक छवि को प्रदर्शित करता है और इसका जनता के मन पर गलत असर पड़ेगा।
लेख से लगता है कि सरकार ने कम्पनी को फायदा पहुंचाने के लिए यह करार किया, जो कि गलत है। समाचार पत्र के लेख से कम्पनी की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचा है। इसलिए 5000 करोड़ रुपए की क्षतिपूर्ति की जाए। इससे पहले रिलायंस समूह ने कई कांग्रेस नेताओं को कानूनी नोटिस भेजा था।