सांसद पर हमला प्रकरण: जाट-राजपूत वैमनस्य भड़का, तनाव के हालात

0
316

न्यूज  चक्र @ बाड़मेर
बाड़मेर-जैसलमेर सांसद कर्नल सोनाराम पर बुधवार को हुए हमले के मामले ने यहां जातिगत वैमनस्य के माहौल को एक बार फिर खतरनाक तरीके से गर्मा दिया। इस आग में जाट नेता और नागौर जिले के खींवसर से विधायक हनुमान बेनीवाल के आगमन ने घी के समान काम किया।‌ उन्होंने सांसद के समर्थन में हुई एक बैठक में बेहद आपत्तिजक सम्बोधन देकर युवाओं में और आक्रोश भर दिया।‌ रात को करणी सेना अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी ने भी भड़काऊ बयान का वीडियो जयपुर से जारी किया।‌
दूसरी ओर आरोपी पक्ष के युवाओं के समर्थन में भी राजपूत समाज की बैठक हुई। इसके बाद शिव विधायक मानवेन्द्र सिंह की पत्नी चित्रा सिंह के नेतृत्व में जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा। वहीं जाट समाज का ज्ञापन एसडीएम नीरज मिश्रा ने बैठक स्थल पर ही जाकर लिया। इससे पूर्व विधायक मानवेन्द्र सिंह ने संयमित भाषा में ही सही मगर राजपूत युवाओं के पक्ष बयान जारी किया था।
इस बवाल का कारण बनी घटना के दो वीडियो भी गुरुवार को सामने आए, जिनमें सांसद का गनमैन व एक अन्य युवक अलग-अलग दो युवकों से मारपीट करतेय नजर आ रहे हैं। सांसद सोनाराम की एक युवक से तकरार भी हो रही है। मार खा रहा एक युवक गनमैन को बार-बार गोली चलाने के लिए उकसा रहा है। गनमैन के हाथ में पिस्तोल है। व सामने आए हैं।
इस घटनाक्रम के बारे में सांसद कर्नल सोनाराम के अनुसार स्वाधीनता दिवस के दिन वे चौहटन तहसील की ओर किसी कार्यक्रम में भाग लेने गए थे। वहां से लौटते समय उनकी गाड़ी ने आगे जा रही एक अन्य गाड़ी को ओवरटेक किया। थोड़ा आगे चलने के बाद पीछे रही वह गाड़ी उनकी गाड़ी को ओवरटेक करते हुए सामने आकर खड़ी हो गई। सांसद सोनाराम के अनुसार इसके बाद गाड़ी में सवार लड़के नीचे उतरे। उन्होंने गन निकाल ली। उसमें पांच-छह जने शराब पी रहे थे। सांसद के अनुसार उन लड़कों ने उन पर हमला किया तो गनमैन ने पुलिस को फोन कर बुला लिया।‌ पुलिस ने उनसे हॉकी बरामद की है। गन उन्होंने कहीं फेंक दी।
राजपूत समाज की बैठक, चित्रा सिंह के ज्ञापन में युवाओं को षड़यंत्र में फंसाने का आरोप
बाड़मेर सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी पर कल हुए कथित हमले में राजपूत समाज के युवाओं को फंसाने के खिलाफ आज राजपूत समाज ने अहम बैठक की। बैठक में वक्ताओं ने आरोप लगाया कि कर्नल सोनाराम चौधरी राजनीति कर जाट व राजपूतों के मध्य अनावश्यक वैमनस्य पैदा कर रहे हैं। वक्ताओं ने जाट समाज पर
षड़यंत्र रच राजपूत युवाओं को फंसाने का आरोप लगाया। राह चलते युवाओं को शिकार बनाया गया। जिस तरह के वीडियो वायरल हुए, उनमें कर्नल के इरादे साफ जाहिर हो रहे हैं। लड़कों पे बंदूक तान जिस गार्ड ने कानून अपने हाथ में लिया, उसके खिलाफ कार्यवाही क्यों नहीं हुई। जब लड़कों को पकड़ा, तब तक उनकी (सांसद) गाड़ी के शीशे सलामत थे। फिर शीशे किसने तोड़े। वक्ताओं ने कहा कि बाड़मेर में जाट व राजपूत भाईयों की तरह रहते आए हैं, लेकिन इन सम्बन्धों को कर्नल सोनाराम अपने राजनीतिक फायदे के लिए बलि पर चढ़ा रहे हैं। बैठक के बाद राजपूत समाज के प्रतिनिधि मंडल ने शिव विधायक मानवेन्द्र सिंह की पत्नी चित्रा सिंह के नेतृत्व में जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा। इसमें मामले में निष्पक्ष कार्यवाही की मांग की गई है।चित्रा सिंह ने ज्ञापन में पकड़े गए युवाओं को निर्दोष बताया है। साथ ही कहा है कि कानून व्यवस्था पर हमें पूरा भरोसा है, हमें न्याय मिलेगा।

बाड़मेर-जैसलमेर सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी पर जानलेवा हमला(Read More…)

जाट व राजपूत समाज के बीच इस घटना के बाद पैदा हुए भारी तनाव को देखते हुए प्रशासन ने सुरक्षा के चाक-चौबंद प्रबंध कर लिए हैं।
इन घटनाओं से सम्बन्धित वीडियो और फोटो भी इस खबर के साथ हैं। इनसे आप मामले को अच्छी तरह समझ जाएंगे। इन वीडियो में तनाव के हालात के चलते बाड़मेर शहर में गश्त करती पुलिस की गाड़ियां, दो वीडियो मुख्य घटनाक्रम के, एक वीडियो जाट छात्रवास में हुई समाज की बैठक को सम्बोधित करते खींवसर विधायक हनुमान बेनीवाल व एक जयपुर से जारी करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी का वीडियो शामिल है।