एसीबी की बड़ी कार्रवाई, 50 लाख रिश्वत मांगने वाली सब इंस्पेक्टर वकील पति सहित गिरफ्तार

0
401

न्यूज चक्र @ जयपुर
राजस्थान की राजधानी जयपुर में मंगलवार को एसीबी ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए एक महिला सब इंस्पेक्टर बबीता और उसके वकील पति को 5 लाख रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। बबीता शहर के शिप्रा पथ थाने में नियुक्त है। उसने एक व्यवसायी से 50 लाख रुपए रिश्वत मांगी थी, मगर सौदा 45 लाख रुपए में तय हुआ। आज वह इसकी पहली किश्त लेते हुए ही धर ली गई।
मामले के अनुसार ऑनलाइन सर्विस प्रोवाइडर का काम करने वाली एक कम्पनी ने बीच में कुछ समय बिटकॉइन के रूप में अपना पेमेन्ट लिया था। किसी तरह इसकी रिकॉर्डिंग सब-इंस्पेक्टर बबीता के हाथ लग गई। यह रिकॉर्डिंग हाथ लगने के बाद बबीता इस कम्पनी के मालिक को ब्लैकमेल करते हुए रिश्वत नहीं देने पर मुकदमा दर्ज करने की धमकी देने लगी। वहीं इस कम्पनी द्वारा बिटकॉइन के रूप में लिए गए पेमेन्ट के सम्बन्ध में थाने में कोई मुकदमा या रिपोर्ट दर्ज नहीं था। बबीता अपने ही स्तर पर ही रिश्वत लेकर इस मामले को रफा-दफा करने की बात कह रही थी। व्यवसायी से बात‌ तय हो जाने के बाद बबीता ने आज उसे थाने के सामने स्थित एक रेस्टोरेन्ट पर रिश्वत की पहली किश्त के 5 लाख रुपए लेकर बुलाया। वहां बबीता का पति अमरदीप भी उसके साथ पहुंचा। बबीता ने व्यवसायी से कुछ देर इधर-उधर की बात करने के बाद रकम अपने पति को देने को कहा। व्यवसायी ने जैसे ही रिश्वत के 5 लाख रुपए अमरदीप के हाथों में सौंपे, पास ही में घात लगाए बैठी एसीबी की टीम ने दोनों को रंगे हाथों धर लिया। हालांकि बबीता का पति पूरे मामले से अपनी अनभिज्ञता जाहिर करता रहा।
एसीबी के महानिरीक्षक सचिन मित्तल के निर्देशन में एसीबी की जयपुर देहात टीम ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया। एसीबी ने कुछ समय पहले शिप्रा पथ थाने में ही गीता नाम की एक और सब इंस्पेक्टर को भी रिश्वत लेते ट्रैप किया था। बबीता की उम्र अभी ज्यादा नहीं है और नौकरी करते भी उसे काफी कम समय हुआ है, मगर घूसखोरी में वह बड़ा कारनामा करने जा रही थी। एसीबी बबीता के ठिकानों पर भी तलाशी करने में जुट गई है।
एसीबी के आईजी ने यह बताया
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के महानिरीक्षक सचिन मित्तल ने बताया कि परिवादी ने एसीबी में शिकायत दी थी। उसने बताया था कि उसकी एक रजिस्टर्ड फर्म है, जिसके माध्यम से वह वेब एडवर्टाइजमेंट का बिजनेस करता है। किसी ने मेरे बिजनेस की (बिटकॉइन) पेमेंट सम्बंधी रिकॉर्डिंग शिप्रा पथ थाने में कार्यरत सब इंस्पेक्टर बबीता चौधरी को दे दी। इस पर वह और उसका वकील पति अमरदीप मेरे खिलाफ थाने में आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज कर फंसाने की धमकी देकर 50 लाख रुपए रिश्वत मांग कर रहे हैं। ब्यूरो ने अतिरिक्त अधीक्षक पुलिस नरोत्तम वर्मा के नेतृत्व में इस बात का सत्यापन करवाया गया। इसमें 45 लाख रुपए में मामला तय हुआ। इस पर आज एसीबी ने ट्रैप की यह कार्रवाई की।