मोदी की बोटी-बोटी करने की धमकी देने वाले इमरान मसूद ने अब कहा-पैर भी पकड़ लूंगा….

0
292

न्यूज चक्र @ सहारनपुर (यूपी)
2014 चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की बोटी-बोटी कर देने की धमकी देने से सुर्खियों में आए कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष एवं पूर्व विधायक इमरान मसूद अब अलग रंग में नजर आए, मगर शर्त के साथ। हाल ही में फिर प्रधानमंत्री पर एक टिप्पणी करने के बाद मसूद ने उनके पैर पकड़ने की बात कह दी है।
दरअसल, मसूद एक बार फिर प्रधानमंत्री मोदी पर टिप्पणी कर विवादों में आ गए हैं। इसके बाद वे शनिवार को पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। इसी दौरान एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि अगर मोदी राफेल मुद्दे पर जवाब दे दें तो सिर्फ माफी ही नहीं मांगूंगा, उनके पैर भी पकड़ लूंगा। मसूद के इस बयान को राजनीतिक गलियाराें में 2019 के चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है। जिस समय मसूद ने पत्रकारों से यह बात कही उनके साथ उत्तर प्रदेश की प्रथम विधानसभा के विधायक नरेश सैनी और सहारनपुर देहात से विधायक मसूद अख्तर भी थे।
इसलिए बैकफुट पर हैं इमरान मसूद
कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष मसूद ने गुरुवार को एक न्यूज चैनल पर लाइव डिबेट के दौरान प्रधानमंत्री मोदी पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी थी। बताया गया है कि उन्होंने अपने बयान में मोदी को सड़क छाप कह दिया था। हालांकि मसूद इस पर यह सफाई दे रहे हैं कि उन्होंने प्रधानमंत्री को सड़क छाप नहीं कहा। अपने इसी बयान पर सफाई देते हुए उन्होंने कहा कि उन्होंने अपने बयान के दौरान ऐसा कुछ नहीं कहा था जो उन्हें माफी मांगनी पड़े, उन्होंने सिर्फ यह कहा था कि संसद में राहुल गांधी द्वारा राफेल के मुद्दे पर पूछे गए सवालों के जवाब में प्रधानमंत्री मोदी ताली बजाकर चुटकी लेते हैं, ऐसे जवाब दे रहे हैं जैसे कोई सड़क छाप देता है। इसी के साथ मसूद ने यह भी कहा कि अगर प्रधानमंत्री मोदी राफेल मुद्दे पर जवाब दे देते हैं तो मैं उनके पैर पकड़ लूंगा।
हाजी इकबाल का भी समर्थन
इसी दौरान मसूद ने पूर्व एमएलसी और बसपा नेता हाजी इकबाल का उत्पीड़न किए जाने का आरोप भी लगाया। उन्होंने कहा कि, अगर हाजी इकबाल का उत्पीड़न बंद नहीं हुआ तो गांधीवादी तरीके से आंदोलन किया जाएगा। भूख हड़ताल भी करनी पड़ी ताे करेंगे। भाजपा सरकार पर आरोप लगाया कि उसकी नजर हाजी इकबाल की यूनिवर्सिटी पर है। सरकार इस विश्वविद्यालय को टेकओवर करना चाहती है। यहां मसूद ने राजनीतिक चलते हुए यह भी कहा कि जो पार्टी अपने लोगों का साथ नहीं दे सकती, ऐसी पार्टी से दूसरे लोगों को भी सचेत हो जाना चाहिए। कल अगर उनका भी उत्पीड़न होता है तो ऐसी पार्टी उनका भी साथ नहीं देगी। मसूद ने यह भी कहा कि पार्टी (बसपा) के पूर्व एमएलसी और वर्तमान वर्तमान एमएलसी के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सहारनपुर आए, लेकिन उन्होंने एक भी शब्द इस बारे में नहीं कहा। ऐसे में लोगों को समझ लेना चाहिए कि वह पार्टी उनका कितना ध्यान रखने वाली है।
कौन हैं हाजी इकबाल
हाजी इकबाल का नाम उत्तर प्रदेश में खनन के काराेबार काे लेकर सुर्खियों में रहता है। वह बसपा नेता और पूर्व एमएलसी भी हैं। इनके भाई महमूद अली वर्तमान एमएलसी हैं। पुलिस ने हाल ही में गैंगस्टर एक्ट में निरुद्ध करते हुए हाजी इकबाल, उनके भाई एमएलसी महमूद अली और हाजी इकबाल के दो लड़कों के खिलाफ कार्यवाही की है। एक लड़के को गिरफ्तार भी किया जा चुका है। कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष मसूद ने हाजी इकबाल के समर्थन में बयान देकर प्रशासन को चेताया है।