कोटा में रविवार को रौपे जाएंगे 10 हजार पौधे

0
139

न्यूज चक्र @ कोटा
अनंतपुरा हितकारी सोसाइटी के द्वारा रविवार सुबह 11 बजे स्मृति वन व अनंतपुरा में कर्णेश्वर महादेव के पास पौधरोपण अभियान के तहत वन विभाग की भूमि पर ट्री गार्ड सहित 10 हजार पौधे लगाए जाएंगे।
सोसाइटी के उपाध्यक्ष डॉ. अशोक कुमार झालानी ने बताया कि पर्यावरण संतुलन बनाए रखने के उद्देश्य से यह अभियान चलाया जा रहा है। पेड़-पौधे आॅक्सीजन के स्तर को ठीक रखते हैं। स्वस्थ जीवन के लिए हमें साफ हवा व जल की जरूरत होती है, ये सब भी हमें पेड़-पौधों से ही मिलते हैं। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता राजस्थान स्टेट हज कमेटी एवं दरगाह ख्वाजा गरीब नवाज कमेटी, अजमेर के चैयरमेन (राज्यमंत्री) अमीन पठान करेंगे। मुख्य अतिथि सांसद ओम बिरला होंगे। विशिष्ट अतिथि विधायक भवानी सिंह राजावत, प्रहलाद गुंजल, चन्द्रकांता मेघवाल, संदीप शर्मा, महापौर महेश विजय, यूआईटी चैयरमेन रामकुमार मेहता, भाजपा ग्रामीण जिलाध्यक्ष जयवीर सिंह, सीसीएफ अनिल कपूर, शहर जिलाध्यक्ष हेमंत विजयवर्गीय, जिला कलक्टर गौरव गोयल, एसपी दीपक भार्गव, एसीएफ जयसिंह, रेजोनेन्स के एमडी आरके वर्मा, एलन क्लासेज डायरेक्टर राजेश माहेश्वरी, केरियर पॉइंट डायरेक्टर ओम माहेश्वरी, नेशनल यूथ अवार्डी निधि प्रजापति, समाज सेवी मोहम्मद मिंया, सर्वोदय ग्रुप के एमडी अब्दुल गफ्फार मिर्जा व शुभम ग्रुप के एमडी दीपक राजवंशी रहेंगे। रौपे जाने वाले पौधों की लम्बाई 8 से 10 फीट होगी। इन पौधों की सुरक्षा के लिए ट्री-गार्ड भी लगाए जाएंगे। इस पौधारोपण अभियान में कोटा शहर की कोचिंग सस्थाओं, काॅलेजों, स्कूलों, अनंतपुरा व्यापार संघ, समाजसेवी एनजीओ तथा भामाशाहों का भी योगदान रहेगा। इनके सहयोग से पौधों की देखभाल की जाएगी।
झालानी ने बताया कि यह पौधरोपण अभियान औपचारिक नहीं होगा, फोटो सेशन बनकर नहीं रह जाएगा। अपितु इस अभियान में सहभागिता निभाने वालों की कोशिश सभी पौधों को जीवित रखने की होगी। प्रत्येक पौधे की देखभाल के लिए तीन वर्ष तक पानी, खाद व अन्य जरूरी संसाधनों की पूर्ण व्यवस्था की जाएगी। अनंतपुरा के प्रत्येक परिवार को एक-एक पौधे के वृक्ष बन जाने तक, उसकी जिम्मेदारी दी जाएगी। साथ ही स्वयंसेवी संस्थाओं, कोचिंग क्लासेज, काॅलेज व स्कूल के छात्रों को भी इस कार्यक्रम में पौधों के वृक्ष बनने तक साथ में जोड़ा जाएगा।
झालानी ने बताया कि इस अभियान में नीम, करंज, 9डशीशम, बड़, पीपल आदि छायादार पौधे लगाए जाएंगे। इससे स्मृति वन व कर्णेश्वर महादेव के पास, अनंतपुरा में वन विभाग की भूमि हरी-भरी हो जाएगी। यह कोटा शहर के पर्यावरण संरक्षण व ग्रीन कोटा अभियान के लिए मील का पत्थर साबित होगा।