राजस्थान: एक और मॉब लिंचिंग, गौ तस्करी के शक में अधेड़ की हत्या

0
143

न्यूज चक्र @ अलवर
जिले के रामगढ़ में गौ तस्करी के संदेह में हरियाणा निवासी एक 50 वर्षीय शख्स की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी। पुलिस ने इस मामले में दो संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया है। इस वारदात से गत वर्ष अलवर में हुई पहलू खान की हत्या की याद ताजा हो गई। मृतक की पहचान हरियाणा के कोलगांव निवासी 50 वर्षीय अकबर खान उर्फ रकबर के रूप में हुई है। खुद को गौरक्षक बताने वाले लोग इस वहशी भीड़ की अगुवाई कर रहे थे। उनका आरोप था कि वह अपने गांव से दो गाय लेकर अलवर के रामगढ़ लालमंड़ी जा रहे थे। तभी भीड़ ने उसे रोककर पूछताछ की और पीट-पीटकर मार डाला। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर अलवर सरकारी अस्पताल भेजने के साथ ही मामले की जांच शुरू कर दी है।
पुलिस ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि मृतक अकबर उर्फ़ रकबर पुत्र सुलेमान अपने साथी के साथ गायों को लेकर लालामंडी रामगढ़ से पैदल जा रहा था। तभी रास्ते में कथित गौ रक्षकों के साथ ग्रामीणों ने उनकी पिटाई कर दी। इस दौरान अकबर का एक साथी तो भाग निकला, मगर वह भीड़ के हत्थे चढ़ गया। सूचना के बाद पुलिस ने अकबर को अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी मौत हो गई। फिलहाल गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। मौके पर पुलिस अधिकारी भी मौजूद हैं। यह घटना ऐसे समय सामने आई है, जब पीएम मोदी ने मॉब लिंचिंग की घटनाओं की कड़ी निंदा की थी। उन्होंने राज्य सरकारों से ऐसी घटनाओं के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने की अपील की है। उधर, मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने ट्वीट कर इस घटना की निंदा की है और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का भरोसा दिलाया है।
वहीं एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने इस घटना को लेकर मोदी सरकार पर प्रहार किया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, ‘गाय को संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत जीने का अधिकार है और एक मुस्लिम को मारा जा सकता है, क्योंकि उनके ‘जीने’ का मौलिक अधिकार नहीं है। मोदी शासन के चार साल- लिंच राज।’
देश में हुई मॉब लिचिंग की हालिया घटनाओं को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने भी चिंता व्यक्त की थी। संसद से भीड़ की हिंसा को रोकने के लिए कानून बनाने को कहा है। सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा है कि भीड़तंत्र की ये घिनौनी हरकतें कानून के राज की धारणा को ही खारिज करती हैं। यह भी कि समाज में शांति कायम रखना केन्द्र सरकार का दायित्व है। गौरतलब है कि अलवर में ही गत वर्ष कथित गौ रक्षकों की भीड़ ने पहलू खान नामक शख्स पर हमला कर दिया था। राजस्थान में गाय खरीदने के बाद हरियाणा जा रहे पहलू खान की इस हमले के दो दिन बाद मौत हो गई थी। डेयरी बिजनस करने वाले खान पर हमला करने के 6 आरोपियों को राजस्थान पुलिस ने क्लीनचिट दे दी थी, वहीं वीडियो व फोटुओ के आधार पर 7 आरोपियों को गिरफ्तार किया था। इनमें से 5 को जमानत मिल गई,बाकी 2 जेल में हैं।