माटूंदा के किसानों को 1.39 करोड़ रुपए के ऋण माफी प्रमाण पत्र वितरित किए

0
479

न्यूज चक्र @ बून्दी
ग्राम सेवा सहकारी समिति माटूंदा में बुधवार को ऋण माफी प्रमाण पत्र वितरण शिविर आयोजित किया गया। इसमें 398 किसानों को उनके 1.39 करोड़ रुपए के ऋण माफी के प्रमाण पत्र दिए गए। इन प्रमाण पत्रों को पाकर किसानों के चेहरे खिल उठे।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बून्दी विधायक अशोक डोगरा थे। अध्यक्षता माटूंदा सरपंच एवं भाजपा किसान मोर्चा के जिला अध्यक्ष महेन्द्र कुमार शर्मा ने की। विशिष्ट अतिथि ग्राम सेवा सहकारी समिति माटूंदा के अध्यक्ष केवल कृष्ण शर्मा व बून्दी भाजपा शहर अध्यक्ष सुरेश अग्रवाल सहित गजानन्द राठौर , ग्यारसीलाल नागर, चेतराम नागर व रमेश चन्द्र चांदना थे।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि विधायक डोगरा ने कहा कि अब से पहले राजस्थान में भाजपा की सरकार रहते तत्कालीन मुख्यमंत्री भैरोसिंह शेखावत ने ही किसानों का 10 हजार रुपए तक का ऋण माफ किया था। इसके बाद अब दूसरी बार भी भाजपा की सरकार में ही मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने किसानों का 50 हजार रुपए तक का ऋण माफ किया है। इस प्रकार यह साबित हो जाता है कि भाजपा ही किसानों का दुख-दर्द समझती है। कांग्रेस‌ इस मुद्दे पर केवल शोर मचाना जानती है। राजस्थान में कांग्रेस सरकारों ने भी भाजपा की तरह अगर किसानों की चिंता की होती तो उनके इतने बुरे हालात नहीं होते। डोगरा ने आगे कहा कि इसी प्रकार पहले फसलों में 50 प्रतिशत से अधिक खराबा होने पर ही किसानों को मुआवजा देने का प्रावधान था। मगर अब प्रधानमंत्री मोदी जी ने 33 प्रतिशत के खराबे पर ही मुआवजा देने का नियम बना दिया है। साथ ही मुआवजे के लिए एक हेक्टेयर की जगह दो हेक्टर तक की भूमि के मालिक‌ को भी योग्य माना जाने लगा है। मुआवजे की राशि भी प्रति हेक्टेयर 9 हजार रुपए से बढ़ाकर 12 हजार रुपए कर दी गई है। राजस्थान व केन्द्र सरकार दोनों ही किसानों की हितैषी है। कार्यक्रम के अध्यक्ष सरपंच शर्मा ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के समय राजस्थान में सहकारी समितियों के माध्यम से ब्याज मुक्त ऋण 24 हजार करोड़ रुपया दिया गया था, वहीं वसुंधरा राजे के कार्यकाल में अभी तक 63 हजार करोड़ रुपए ब्याज मुक्त ऋण किसानों को दिया जा चुका है। 10 प्रतिशत से अधिक नए किसानों को सहकारी समितियों से जोड़ा और उन्हें भी ब्याज मुक्त ऋण दिया। राजस्थान की सरकार व केन्द्र सरकार, दोनों ही किसान हितैषी हैं। देश के प्रधानमंत्री हमेशा ही किसानों की हालत सुधारने के लिए चिंतित‌ रहते हैं। विश्व में नरेन्द्र मोदी ही ऐसे प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने किसानों के लिए 24 घंटे चलने वाले किसान चैनल का वर्ष 2015 में शुभारम्भ किया। यह डीडी किसान चैनल के नाम से पूरे देश में देखा जाता है। विधायक डोगरा ने आगे कहा कि राजस्थान में किसान हित की कई योजनाऐ चल रही हैं। उन्होंने किसानों से आधुनिक खेती के साथ जैविक खेती अपनाने की भी अपील की। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में किसान व अन्य ग्रामीण भी मौजूद थे। संचालन वरिष्ठ भाजपा कार्यकर्ता नंदकिशोर माहेश्वरी ने किया।