गजेन्द्र सिंह शेखावत के नाम की 15 जून को घोषणा?

0
273

न्यूज चक्र @ जयपुर
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष का नाम फाइनल करने के लिए बुधवार को दिल्ली में हुई पार्टी की मैराथन बैठक के बावजूद कोई फैसला घोषित नहीं हुआ। यह अलग बात है कि न्यूज चैनलों में इस बारे में विरोधाभासी खबरें आ रही हैं। एक न्यूज चैनल तो गजेन्द्र सिंह शेखावत के नाम पर सीएम वसुंधरा के सहमत हो जाने का दावा कर रहा है।
फर्स्ट इंडिया चैनल की खबर के अनुसार 15 मिनट तक भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह व सीएम वसुंधरा की अलग से बैठक हुई। इसमें पहले तो अमित शाह ने वसुंधरा के पक्ष को ध्यान से सुना, उसके बाद उन्होंने शेखावत के पक्ष में अपने तर्क रखे। फर्स्ट इंडिया ने दावा किया कि इस पर पार्टी हित को मानते हुए वसुंधरा ने शेखावत के नाम पर सहमति दे दी। अमित शाह ने वसुंधरा को चुनाव में संगठन की ओर से हर प्रकार का सहयोग देने का भरोसा दिया। इसके अनुसार शेखावत के नाम की घोषणा 15 जून को कर दी जाएगी। (यह अलग बात है कि अलगे दिन गुरुवार को इस चैनल ने भी अपनी खबर को बदल दिया। अब यह कहा जा रहा है कि अमित शाह और वसुंधरा के बीच बैठक हुई थी। इसमें शाह ने शेखावत के पक्ष में अपने विचार बताए, मगर पूर्व की भांति वसुंधरा इस पर चुप रहीं) वहीं बाकी अधिकतर न्यूज चैनल्स के अनुसार यह बैठक भी बेनतीजा रही। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष के लिए किसी नाम पर सहमति नहीं बन बन पाई। इन खबरों के अनुसार
सीएम वसुंधरा और कोर कमेटी के सदस्यों के दिल्ली दौरे के बाद अब नए प्रदेशाध्यक्ष के नाम की घोषणा 15 जून को होने की सम्भावना है। उपचुनाव में बीजेपी को मिली करारी शिकस्त के बाद प्रदेशाध्यक्ष पद से हटाए गए अशोक परनामी की जगह नई नियुक्ति पर बुधवार को भी फैसला नहीं हो सका। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बुलावे पर दिल्ली पहुंचीं सीएम वसुंधरा और कोर कमेटी के सदस्यों की बैठक के बाद अब नए प्रदेशाध्यक्ष के नाम की घोषणा 15 जून को किए जाने की सम्भावना है। सीएम वसुंधरा इस दिन रमजान के आखिरी जुम्मे पर रोजा इफ्तार पार्टी भी देने वाली हैं। फिलहाल उन्होंने किसी नाम पर सहमति नहीं दी है।
दिल्ली में बैठक से पहले कहा जा रहा था कि प्रदेश में पार्टी के नए प्रदेशाध्यक्ष पर जारी कश्मकश को खत्म करने के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सहित प्रमुख नेताओं को दिल्ली तलब किया है। मगर शाह के साथ बैठक के बाद कहा गया कि यह बैठक आगामी लोकसभा चुनाव के सम्बंध में विचार-विमर्श के लिए बुलाई गई थी।
गौरतलब है कि पार्टी के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी ने 16 अप्रैल को अपने पद से इस्तीफा दिया था। तब से करीब 2 महीने गुजर गए पार्टी बिना अध्यक्ष के है। इस दरमियान नए प्रदेशाध्यक्ष के उम्मीदवार के रूप में कई नेताओं के नाम सुर्खियों में आए। आखिर में केन्द्रीय नेतृत्व की ओर से केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत का नाम सामने आया, लेकिन प्रदेश नेतृत्व से इनके नाम पर सहमति नहीं मिली। इसलिए प्रदेशाध्यक्ष की घोषणा अटक गई। दिल्ली में बैठक के दौरान बुधवार को ही भूपेन्द्र यादव के रूप में नए दावेदार का नाम सामने आया है।