सिन्धी आइडल 2018: प्रतिभाओं ने बिखेरा सुरों का जादू

0
168

न्यूज चक्र @ कोटा
सिंधी समाज के नवोदित गायकों की प्रतिभा को सामने लाकर उन्हें प्रोत्साहित करने एवं सिंधी भाषा के प्रति बच्चों में रूचि पैदा करने की दृष्टि से शनिवार को राजस्थान सिंधी अकादमी जयपुर की ओर से कोटा में पहली बार राज्य स्तरीय सिंधी भाषाई गायन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। गुमानपुरा स्थित संत कंवरराम सिंधी धर्मशाला में आयोजित इस‌ कार्यक्रम में 32 प्रतिभागियों ने सिंधी गीतों व भजनों की मधुर प्रस्तुतियां देकर समां बांध दिया। इसमें पांच प्रतियोगियों को फाइनल राउंड के लिए चुना गया।
इन चयनित प्रतियोगियों को स्वामी टेऊंराम आलोक सीनियर सैकण्डरी स्कूल एवं सिन्धु यूथ सर्किल द्वारा स्मृति चिह्न भेंट कर सम्मानित किया गया। चयनित प्रतिभागी 20 जून को उदयपुर में होने वाले फाइनल राउण्ड में हिस्सा लेंगे। इसमें प्रतिभागियों को सम्मानित किया जाएगा। कोटा सम्भाग के संयोजक जयकुमार चंचलानी एवं सिंधी यूथ क्लब के संयोजक योगेश रोहिड़ा ने बताया कि ऑडिशन में कोटा, बून्दी व रावतभाटा के प्रतिभागियों ने शिरकत की। प्रतियोगिता में प्रत्येक प्रतियोगी को 3 मिनट का समय दिया गया था। कार्यक्रम के निर्णायकों व अतिथियों को माल्यार्पण कर व स्मृति चिह्न भेंट कर सम्मानित किया गया। इसमें निर्णायक अनिता शिवनानी, कवि लक्ष्मीचंद व गिरीश कृपलानी थे।
प्रारम्भ में राजस्थान सिंधी अकादमी के सचिव ईश्वर मोरवानी, मुख्य अतिथि पूज्य सिंधी जनरल पंचायत के अध्यक्ष ओम अडवाणी, अध्यक्षता कर रहे संत कंवरराम धर्मशाला के अध्यक्ष गिरधारी पंजवानी, सिन्धु सोशल सर्किल के महासचिव हरीश टेकवानी, भारतीय सिंधु सभा के प्रदेश सांस्कृतिक मंत्री मूलचंद तलरेजा, सम्भाग प्रभारी नरेश टहलियानी, समाज सेवी राकेश हरिसिंघानी, मुरलीधर अलरेजा, भरत माखीजा व दीपक सर्राफ ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया।संचालन प्रकाश वीर नाथानी ने किया।
अपनी भाषा के प्रति दिखाएं प्रेम
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूज्य सिंधी जनरल पंचायत के अध्यक्ष ओम अडवानी ने कहा कि इस कार्यक्रम से सिंधी साहित्य कला व संस्कृति से सम्बन्धित नए कलाकारों को मंच मिलेगा। नई पीढ़ी में सिंधी भाषा के प्रति रूचि देखने को मिल रही है। कार्यक्रम संयोजिका अनीता शिवनानी ने बताया कि प्रतियोगिता में 6 साल की आयु से लेकर 80 साल तक आयु के लोग हिस्सा ले रहे हैं। यह आयोजन राज्य के पांचों सम्भागों अजमेर, जोधपुर, उदयपुर, कोटा व अजमेर में आयोजित किया जा रहा है। फाइनल राउण्ड 20 जून को उदयपुर में होगा। इसमें प्रथम पुरस्कार 31 हजार, द्वितीय 21 व तृतीय पुरस्कार 11 हजार रखा गया है। शेष प्रतिभागियों को सांत्वना पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।