इस गांव की पूरी भूमि ही श्मशान है, मंत्री को पता चला तो चौंक गए

बून्दी जिले के देईखेड़ा गांव का मामला, राजस्व शिविर में ग्रामीणों की इस सबसे बड़ी परेशानी के समाधान की कार्यवाही शुरू

0
242

न्यूज चक्र @ बून्दी
जिले के देईखेड़ा गांव में गुरुवार को आयोजित‌ राजस्व शिविर में पहुंचे खाद्य मंत्री बाबू लाल वर्मा के सामने आए एक प्रकरण ने उन्हें बुरी तरह चौंका दिया। दरअसल ग्रामीणों ने उन्हें बताया कि जिस 12 बीघा भूमि पर देईखेड़ा बसा है, वह पूरी भूमि शमशान व रास्ते के रूप में दर्ज है। इस पर उन्होंने गांव के आबादी विस्तार के प्रस्ताव का राज्य सरकार से अनुमोदन करवा देने का आश्वासन देने के साथ इसकी प्रक्रिया भी शुरू करवाई।
इस शिविर में ग्रामीणों ने मंत्री वर्मा को बताया कि बरसों से यहां आबादी निवास कर रही है। इसके बावजूद पूरे गांव की भूमि राजस्व रिकॉर्ड में श्मशान व रास्ते के रूप में दर्ज होने से उन्हें कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इस पर शिविर में मौजूद जिला कलक्टर महेश चन्द्र शर्मा ने तुरंत सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दे प्रकरण की जानकारी करवाई। इसके बाद खाद्य मंत्री के निर्देश पर शिविर स्थल पर ही गांव की आबादी के विस्तार का प्रस्ताव तैयार कर जिला कलक्टर को भिजवाया गया। इस दौरान वर्मा ने ग्रामीणों से कहा कि जिला कलक्टर से यह प्रस्ताव प्राप्त होने पर राज्य सरकार से अनुमोदन करवा दिया जाएगा। इससे ग्रामीणों को बड़ी समस्या से राहत मिल जाएगी। इस पर देईखेड़ा के ग्रामीणों ने राज्य सरकार के द्वारा आयोजित किए जा रहे राजस्व शिविरों के लिए उसका व उनकी समस्या को गम्भीरता से लेने पर खाद्य मंत्री का आभार जताया।