पाकिस्तान से राजस्थान में तबाही का तूफान घुसा, बीकानेर अस्त-व्यस्त

0
480

न्यूज चक्र @ जयपुर/बाड़मेर/बीकानेर
राजस्थान एक बार फिर प्रकृति के कहर की आशंका से सहम गयी है। इसकी शुरुआत सोमवार दोपहर पाकिस्तान की ओर से बीकानेर जिले में तूफान के प्रवेश करने से हुई। शाम तक यह बीकानेर शहर में पहुंच गया। धूल का भारी बवंडर उठने से हर तरफ घना अंधेरा छा गया। कई जगह तेज बारिश शुरू हो गई। इससे जनजीवन बुरी तरह अस्त-व्यस्त हो गया। प्रशासन ने अलर्ट जारी कर लोगों को घरों में ही रहने की हिदायत‌ दी है। अन्य‌ सरहदी जिलों के साथ राज्य के बीस से ज्यादा जिलों में भी तूफान की आशंका को देखते हुए सरकार ने अलर्ट जारी किया है।
बीकानेर में यह तूफान गुबार के रूप में दक्षिण-पश्चिम‌ की ओर से पूर्व दिशा की ओर बढ़ा। भारतीय‌ सीमा में करीब पचास किलोमीटर प्रवेश करने के बाद खाजूवाला शहर को पार कर शाम को बीकानेर शहर में प्रवेश कर गया। तेज तूफान से बिजली की लाइनें क्षतिग्रस्त हो गईं, बड़ी संख्या में पेड़ भी गिर गए। गौरतलब है कि गत बुधवार को प्रदेश के छह से ज्यादा जिलों में आए तूफान ने भारी कहर बरपाया था। वहीं आज फिर से मौसम विभाग ने राज्य के बीस से ज्यादा जिलों में अंधड़ व बादलों की तेज गर्जना के साथ ओलावृष्टि होने की चेतावनी जारी की है।
मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ के असर से पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश की तरफ हीट कनवेंन्शन सिस्टम बना हुआ है। इसके असर से इन राज्यों सहित राजस्थान में भी चक्रवाती हवाएं चलने से अंधड़ और बादलों की गड़गड़ाहट के साथ कुछ स्थानों पर ओलावृष्टि फिर से तबाही मचा सकती है।
राजस्थान के इन जिलों में अलर्ट
मौसम केन्द्र की चेतावनी के अनुसार अगले 48 घंटे में जयपुर सहित अलवर, दौसा, भरतपुर, धौलपुर, अजमेर, बून्दी, कोटा, बारां, झालावाड़, भीलवाड़ा, चित्तौडगढ़, जोधपुर, बीकानेर, गंगानगर,हनुमानगढ़, झुंझुनू, करौली, राजसमंद व सवाईमाधोपुर जिलों में भी इस तूफान का असर पहुंचने की आशंका है। भरतपुर संभाग के अलावा अलवर में भी बुधवार को तूफान ने भारी कहर बरपाया था। आगामी 48 घंटों में फिर मौसम बिगड़ने के पूर्वानुमान से इन जिलों में लोग एक बार फिर सहम गए हैं। राज्य सरकार ने आपदा राहत बचाव को लेकर अलर्ट जारी किया है। लोगों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है।
राजधानी जयपुर में रविवार रात तेज उत्तर पूर्वी हवाओं से मौसम का मिजाज बदल गया। दिनभर रही तेज गर्मी के बाद रात को आंशिक राहत मिली। रात के तापमान में बढ़ोतरी होने के बावजूद उत्तरी हवा के कारण गर्मी के तेवर कुछ नर्म रहे। इसके बाद सोमवार सुबह आसमान साफ रहा। हवा की गति कम रहने से सूर्योदय के साथ ही धूप की चुभन महसूस होने लगी।
जैसलमेर: एक साल पुराना है वीडियो
सोशल वीडियो पर धूल के भारी गुबार के साथ उठते तूफान का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में दिख रहा है कि भारी तूफान के कारण गहरा अंधरा छाता जा रहा है। कुछ लोगों की आवाजें आ रही हैं, हालांकि वो दिखाई नहीं दे रहे हैं। वीडियो के साथ जारी मैसेज में उसे आज ही जैसलमेर से उठा तूफान बताया जा रहा है। मगर हमारे बाड़मेर संवाददाता प्रवीण बोथरा के अनुसार वह वीडियो जैसलमेर का तो है, मगर गत वर्ष का।