राज्य मंत्री अली ने शिक्षा मंत्री देवनानी से मुलाकात कर रखी उर्दू के विद्यार्थियों व अध्यापकों की समस्याएं

0
184

न्यूज चक्र @ जयपुर
राजस्थान उर्दू अकादमी के चेयरमैन राज्य मंत्री अशरफ अली ने शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी से मुलाकात कर उनसे रिट परीक्षा 2018 में थर्ड ग्रेड की भर्ती में उर्दू की पोस्ट शामिल नहीं करने पर कड़ा ऐतराज जताया। साथ ही उर्दू शिक्षकों की पोस्टिंग अल्पसंख्यक बहुल क्षेत्रों में किए जाने की मांग भी की।
अशरफ अली ने शिक्षा मंत्री से कहा कि मैंने राज्य के सभी जिलों व 110 विधानसभा क्षेत्रों का भ्रमण किया। इस दौरान अल्पसंख्यक वर्ग के लोगों की शिकायत सामने आई कि उर्दू शिक्षकों के पद समाप्त किए जा रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि बाड़मेर जिले में लगाए गए 26 नए उर्दू के शिक्षकों को ऐसे स्कूलों में नियुक्ति दी है, जहां उर्दू पढ़ने वाले बच्चे ही नहीं हैं। इसलिए राज्यमंत्री अली ने उन्हें अल्पसंख्यक बहुल क्षेत्रों में लगाने की मांग की। उन्होंने यह भी कहा कि वरिष्ठ अध्यापक को आरपीपीए के तहत मेरे जिले बाड़मेर से प्रतिनियुक्ति पर अपने जिलों में भेज दिया गया है। यह हमारे विद्यालयों में उर्दू पढ़ने वाले विद्यार्थियों के साथ घोर अन्याय है। इनकी प्रतिनियुक्ति तत्काल निरस्त की जानी चाहिए। अशरफ अली की इन मांगों पर शिक्षा मंत्री देवनानी ने उन्हें आश्वासन दिया कि जिन अल्पसंख्यक क्षेत्रों में उर्दू अध्यापक नहीं लगे हुए हैं, वहां उनकी नियुक्ति की जाएगी। साथ ही प्रतिनियुक्त शिक्षकों को अपने मूल पदों पर लगाया जाएगा। देवनानी ने राज्यमंत्री से इसके लिए बाड़मेर सहित अन्य जिलों के उर्दू पढ़ने वाले बच्चों की लिस्ट तैयार करवाने को कहा। इसके आधार पर आगे की कार्यवाही किए जाने की बात कही। शिक्षा मंत्री ने यह भी कहा कि रिट की परीक्षा में उर्दू के थर्ड ग्रेड शिक्षकों के भी कुछ पद हैं, इन्हें और बढ़ाने की कोशिश करेंगे।