सांसद बिरला के निर्देशों से ग्रामीणों का जीवन बदलने की आस

0
492

न्यूज चक्र @ बून्दी
वन सीमा विवाद के कारण अभी तक विकास योजनाओं के लाभ से वंचित शहर की संजय नगर बस्ती व माटूंदा ग्राम पंचायत के गांव श्योपुरिया की बावड़ी के वाशिंदों को अब बड़े बदलाव की आस जगी है। ऐसा सांसद ओम बिरला के द्वारा अधिकारियों को दिए सख्त निर्देश से सम्भव लग रहा है। बिरला ने गुरुवार सुबह श्योपुरिया की बावड़ी में आयोजित जनसुनवाई में क्षेत्रवासियों की समस्याएं सुन मौके पर ही उनका समाधान किया। यहां सांसद ने अधिकारियों से साफ कहा कि कैम्प लगाकर वन सीमा का अच्छी तरह नाप जोख कर आबादी व खातों की जमीनों को इससे बाहर किया जाए। ग्रामीणों की बदहाली को देखते हुए सभी को बीपीएल योजना सहित केन्द्र व राज्य सरकार की अन्य योजनाओं से लाभान्वित करें। इसके लिए सर्वे करवा लिया जाए। सांसद की इस घोषणा से ग्रामीणों में खुशी की लहर दौड़ गई। इस दौरान माटूंदा सरपंच व भाजपा किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष महेन्द्र शर्मा ने ग्रामीणों की विभिन्न समस्याओं को पुरजोर तरीके से रख उनका समाधान करवाया।
जनसुनवाई में बिरला ने श्योपुरिया की बावड़ी गांव के वाशिंदों कालबेलिया जाति के लोगों के लिए कहा कि ये लोग पूरी तरह विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ पाने वालों की श्रेणी में आते हैं। इन परिवारों के भामाशाह व प्रधानमंत्री खाद्य सुरक्षा योजना से जुड़ जाने पर इनका आठ लाख तक का इलाज मुफ्त होने के साथ चार सदस्यों वाले परिवार को बीस किलो तक गेहूं मिलने लगेंगे। बुजुर्ग महिलाओं को पेंशन फार्म मिल जाएं, ग्रामीणों के लेबर कार्ड बन जाएं। प्रधानमंत्री सुरक्षा योजना के तहत इनका बीमा करवाने के पैसे हम जमा करवा देंगे। तमाम योजनाओं का लाभ इन तक पहुंच जाए तो इनका जीवन आसान हो जाएगा। शत प्रतिशत बच्चों को स्कूल भेजने की व्यवस्था भी की जाए। सांसद ने यह भी कहा कि 30 अप्रैल को जिला मुख्यालय पर जिले के चयनित एससी-एसटी बहुल सात गांवों के लिए कैम्प लगाया जाएगा। इसमें इन ग्रामीणों को योजनाओं का लाभ दिलवाने के साथ इन सभी का स्वास्थ्य परीक्षण करवाना भी सुनिश्चित किया जाए। सभी बच्चों का टीकाकरण भी हो। बिरला ने बताया कि देशभर के चयनित बीस हजार गांवों में बून्दी के सात गांव शामिल हैं।
गांवों में नहीं पहुंचे बैंक अधिकारी
जनसुनवाई के दौरान सांसद बिरला ने स्वतः ही इस बात पर चिंता जताई कि वे चयनित गांवों के दौरे पर गए, मगर कहीं भी बैंक अधिकारियों के पहुंचने की जानकारी नहीं मिली। इससे ग्रामीण प्रधानमंत्री जनधन योजना से लाभान्वित नहीं हो पा रहे हैं। उन्होंने जिले के लीड बैंक बैंक ऑफ बड़ौदा के मैनेजर से बात कर इस पर नाराजगी जताई। साथ ही कहा कि जो भी अधिकारी इसके लिए जिम्मेदार हैं, उन्हें सूचित करें। अगर आगे शिकायत हो जाएगी तो मुश्किल होगी। किसान क्रेडिट कार्ड बनाने की व्यवस्था भी की जाए।
समाधि के लिए श्मशान घाट की समस्या
जनसुनवाई में एक ग्रामीण ने कहा कि मौत हो जाने पर कालबेलिया जाति की परम्परा के अनुसार समाधि दी जाती है। मगर इसके लिए श्मशान घाट नहीं है। फोरेस्ट वाले आपत्ति करते हैं। माटूंदा सरपंच महेन्द्र शर्मा ने कहा कि बिजली कनेक्शन के लिए 22 रुपए प्रति वर्ग फीट के हिसाब से प्रति परिवार 22 हजार रुपए तक मांगे जा रहे हैं। उन्होंने संजय कॉलोनी में दो साल से बिजली कनेक्शन नहीं मिलने की समस्या भी उठाई। इस पर विद्युत निगम के एईएन मोहर सिंह मीणा ने कहा कि कनेक्शन के लिए समस्या आने पर उनके पास आएं। इसके अलावा संजय नगर बस्ती में अटके बिजली कनेक्शनों के लिए फोरेस्ट विभाग की आपत्ति को जिम्मेदार बताया। मीणा ने कहा कि वे आपत्ति नहीं करें तो हम फार्म ले लेंगे।
इस अवसर पर सांसद बिरला ने जंगलात भूमि की समस्या से निजात दिलाने के लिए सम्बन्धित अधिकारियों को दुबार कैम्प लगाकर सर्वे करने के निर्देश भी दिए। कहा कि इन क्षेत्रों की इस बड़ी समस्या का समाधान कर इन्हें सभी योजनाओं का लाभ दिलाया जाए। बिजली कनेक्शन भी शत-प्रतिशत करवाए जाएं। ग्रामीणों की कई स्थानीय समस्याओं का भी उन्होंने मौके पर ही समाधान करने के निर्देश दिए। इनमें नाली व हैंडपम्प आदि की समस्या शामिल रही। इस अवसर पर एसडीएम दिव्यांशु शर्मा, तहसीलदार, जलदाय विभाग के एईएन, कानूनगो, पंचायत विकास अधिकारी, पटवारी आदि के अलावा भाजपा के वरिष्ठ नेता निर्मल मालव, महेश जिंदल, जोगी समाज के तहसील अध्यक्ष जयराम जोगी, प्रजापत समाज के अध्यक्ष बलवीर प्रजापत, भाजपा घुमन्तू परिवार कार्यकारिणी सदस्य छोटूलाल, सामाजिक कार्यकर्ता नरेश सिंह, पूर्व वार्ड पंच सूरज जोगी आदि भी मौजूद रहे।
सीसी सड़कों का लोकार्पण भी किया
सुबह नौ बजे करीब श्योपुरिया की बावड़ी गांव पहुंचने पर ग्रामीणों व भाजपा कार्यकर्ताओं ने सांसद बिरला का शानदार स्वागत किया। इसके बाद बिरला ने बाबा रामदेव मंदिर से जोगी बस्ती तक तथा बाबा रामदेव जी के चौक में बनी सीसी सड़कों का फीता काट कर लोकार्पण किया। साथ ही प्रजापत समाज की धर्मशाल में स्नानागार व शौचालय निर्माण के लिए तीन लाख रुपए व गांव में दो बोरिंग मय मोटर की घोषणा भी की। गौरतलब है कि बिरला बुधवार रात करीब साढ़े ग्यारह बजे गांव पहुंचे थे। वहां इस दौरान हो रहे जागरण में सुखदेव महाराज व गोपाल जोगी सहित अन्य ने उनका स्वागत किया। इसके बाद रात एक बजे तक बिरला ने ग्रामीणों से समस्याओं पर चर्चा कर गांव के विकास के लिए सुझाव मांगे। इस दौरान पूरे समय सरपंच महेन्द्र शर्मा मौजूद रहे। बिरला ने रात्रि विश्राम सर्किट हाउस में किया था। सुबह जनसुनवाई छोटू लाल जोगी के निवास पर हुई। यहीं पर उन्हें नाश्ता भी कराया गया। उस दौरान बिरला ने घर की महिलाओं व बच्चों को भी साथ में बैठाकर उनसे अपनत्व भरी बातचीत की। खास बात यह रही कि जनसुनवाई के लिए कोई विशेष व्यवस्था नहीं की गई थी। बिरला सहित अधिकारियों ने भी खाटों पर बैठ कर ही ग्रामीणों से बातचीत की। इसके बाद नीचे बिछाई गई गद्दियों पर बैठकर ही सभी ने नाश्ता किया।