राहुल के जनप्रतिनिधियों से संवाद में बाड़मेर की शम्मा बानो ने भी की शिरकत

0
260
दिल्ली। राहुल गांधी के साथ चौहटन की पूर्व प्रधान एवं पीसीसी सचिव शम्मा बानो।

न्यूज चक्र @ नई दिल्ली/जोधपुर/सेन्ट्रल डेस्क
पंचायती राज व्यवस्था से जुड़े 73 वें और 74 वें संविधान संशोधनों की 25 वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में कांग्रेस के अग्रिम संगठन राजीव गांधी पंचायती राज संगठन की ओर से देशभर में कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। इन कार्यक्रमों की शृंखला में शुक्रवार को दिल्ली में पंचायती और शहरी निकाय के जनप्रतिनिधियों से पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने सीधा संवाद किया। इस कार्यक्रम में देशभर के 19 राज्यों के जनप्रतिनिधि शामिल हुए। इनमें राजस्थान के 20 जनप्रतिनिधियों में जोधपुर सम्भाग से बाड़मेर जिले के चौहटन की पूर्व प्रधान एवं पीसीसी सचिव शम्मा बानो भी शामिल रहीं।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए राहुल ने कहा कि केन्द्र और राज्यों में कांग्रेस की सरकार बनने पर विकेन्द्रीकरण की प्रक्रिया को और प्रभावी किया जाएगा। संगठन के भीतर स्थानीय निकायों के जनप्रतिनिधियों को ज्यादा अवसर प्रदान किए जाएंगे। राहुल ने हर प्रक्रिया में पंचायती राज संस्थाओं के चुने हुए जनप्रतिनिधियों को तवज्जो देने और युवाओं को स्थानीय निकायों के चुनाव लड़ने के लिए प्रोत्साहित करने पर भी जोर दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि केन्द्र की भाजपा सरकार और भाजपा शासित राज्य सरकारें पंचायती राज संस्थाओं में विकेंद्रीकरण और सत्ता हस्तांतरण की प्रक्रिया को कमजोर करने में लगी हुई है।
इस दौरान राहुल ने जनप्रतिनिधियों के सवालों के जवाब भी दिए। इस संवाद कार्यक्रम में कांग्रेस के संगठन प्रभारी और राष्ट्रीय महासचिव अशोक गहलोत, राजीव गांधी पंचायती राज संगठन राष्ट्रीय अध्यक्ष मीनाक्षी नटराजन और संगठन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हर्षवर्धन सपकाल भी मौजूद रहे।
राजस्थान से राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के प्रदेश संयोजक अमित पूनिया के नेतृत्व में पंचायती और शहरी निकाय के 20 जनप्रतिनिधियों ने इस संवाद कार्यक्रम में शिरकत की। इनमें एससी श्रेणी के 10, एसटी श्रेणी के 5 और 5 महिला जनप्रतिनिधि शामिल थीं। जनप्रतिनिधियों की इस सूची को संगठन के प्रदेश संयोजक अमित पूनिया ने अंतिम रूप दिया था। एआईसीसी की गाइड लाइन और नियमों के आधार पर कर्मठ और सक्रिय जनप्रतिनिधियों का इसमें चयन किया गया था। इनमें झुंझुनूं जिले से बाय सरपंच और महिला कांग्रेस प्रदेश महासचिव तारा देवी व जोधपुर सम्भाग से चौहटन की पूर्व प्रधान एवं पीसीसी सचिव शम्मा बानो भी शामिल रहीं। इन्होंने कार्यक्रम में अपने-अपने क्षेत्र की जन समस्याओं से अवगत कराते हुए पंचायती राज सिस्टम को मजबूती प्रदान करने के लिए अपने सुझाव भी दिए। शम्मा बानो ने बाङमेर-जैसलमेर जिलों की जनता के मुद्दों को उठाया। साथ ही इन क्षेत्रों के पंचायती राज जनप्रतिनिधियों की प्रमुख समस्याओं पर विचार व्यक्त करते हुए इनके समाधान के सुझाव भी दिए।
इसी प्रकार राजस्थान के अन्य प्रतिनिधियों ने भी जनता से जुड़े मुद्दों पर सुझाव दिए। उल्लेखनीय है कि राजीव गांधी पंचायती राज संगठन की ओर से प्रत्येक राज्य में इस प्रकार के सम्मेलन आयोजित किए जाएंगे।