कोटा: दो मंजिला बियर बार ढहा, चार को जिंदा निकाला, राहत‌ कार्य में ली जा रही ड्रोन की सहायता

0
426
कोटा। नई धानमंडी क्षेत्र में ढहे बियर बार की इमारत। फोटो-रफीक पठान
कोटा। नई धानमंडी क्षेत्र में ढहे बियर बार की बिल्डिंग में फसे हुए युवक को बाहर निकाल कर लाते राहतकर्मी‌।

न्यूज चक्र @ कोटा
गुमानपुरा थाना क्षेत्र में नई धानमंडी स्थित कोंटेसा बियर बार एवं होटल की दो मंजिला इमारत शनिवार सुबह तेज धमाके की आवाज के साथ भरभरा कर गिर गई। मलबे में दबे हुए चार लोग जिंदा बचाए जा चुके थे,‌ एक अन्य के दबे होने की आशंका है। हर स्तर पर तेजी से बचाव कार्य जारी है। सूचना मिलते ही सभी अधिकारियों सहित रेस्क्यू टीमें व दमकलें पहुंच गईं थीं।
यह बार एवं होटल एक दूसरे से जुड़ी हुई दो बिल्डिंगों में चलता है। दबी जुबान में लोगों का कहना है कि इसमें अवैध काम भी होते थे। हादसे की सूचना मिलते ही निगम और प्रशासनिक टीम मौके पर पहुंचीं। 11 बजे करीब हुए इस हादसे के दो घंटे बाद तक बिल्डिंग के मलबे से रेस्क्यू टीम ने तीन घायलों को बाहर निकाल लिया था। वहीं राहत कार्य के कारण सुरक्षित रास्ता मिलने पर एक व्यक्ति खुद ही बाहर आ गया। इन चारों को अस्पताल में भर्ती कराया गया, हालांकि ये सभी खतरे से बाहर हैं।
घटना से क्षेत्र में भारी अफरा-तफरी का माहौल है। पुलिस व प्रशासन पूरी मुस्तैदी से कार्रवाई में जुटा हुआ है। राहत व बचाव के पूरे प्रबंध किए जा रहे हैं। अभी तक इस बिल्डिंग के गिरने के कारणों का पता नहीं चला है। बताया जा रहा है कि ये बिल्डिंग कुछ साल पहले ही बनी थी। मौके पर भारी भीड़ लगी हुई है। एहतियातन अग्निशमन विभाग की एक दर्जन से अधिक दमकलें भी पहुंच चुकी थीं। आरएसी और एसडीआरएफ की टीमें भी मौजूद हैं। सद्दाम नामक एक शख्स के अंदर 108 नम्बर के कमरे में दबे होने की जानकारी सामने आई है। उस तक पहुंचने का रास्ता जानने के लिए दो ड्रोन की सहायता ली जा रही है।
जिला कलक्टर रोहित गुप्ता और आईजी विशाल बंसल भी मौके पर राहत और बचाव कार्य का जायजा ले रहे हैं। नगर निगम के आयुक्त डॉ. विक्रम जिंदल के निर्देशन में बचाव कार्य जारी है।
मौके पर भारी भीड़ होने से राहत और बचाव कार्य में परेशानी आ रही है। भीड़ को हटाने के प्रयास किए जा रहे हैं। नगर निगम के बचाव कार्य की सब तारीफ कर रहे हैं। सांसद ओम बिरला, महापौर महेश विजय व यूआईटी चेयरमैन राम कुमार मेहता ने भी मौके पर हालातों का जायजा लिया। इस बार का मालिक अनवर नामक शख्स है। इस मामले में सबसे बड़ी बात‌ यह सामने आई है कि अनवर के परिवार में किसी की शादी होने से बार तीन दिन से बंद था। इसलिए होटल के सारे कमरे खाली थे, गिनती के ही आदमी अंदर थे। ऐसा नहीं होता तो बहुत बड़ा हादसा होता। इस हादसे की सूचना पाकर मौके पर पहुंचा अनवर मीडियाकर्मियों सहित सभी से अपनी पहचान छुपाने का प्रयास करता रहा। मीडियाकर्मियों ने जब उससे बात करने की कोशिश की तो पहले तो उसने खुद के अनवर होने से इनकार कर दिया। बाद में जोर देकर पूछने पर वह रो पड़ा। मौके पर पहुंचे महापौर महेश विजय का कहना था कि इस बड़ी इमारत के निर्माण में बीम व अन्य खामिया होने से यह हादसा होने की आशंका है।