बून्दी: शहर सहित जिले के कई गांव-कस्बे बंद रहे, 5 को जमानत, 12 को जेल

0
402

न्यूज चक्र @ बून्दी
रामनवमी के अवसर पर रविवार को निकाली गई शोभायात्रा के दौरान पथराव से व्याप्त तनाव के बाद आज मंगलवार को दूसरे दिन भी शहर के बाजार बंद रहे। इसके अलावा जिला व्यापी बंद के आह्वान के तहत जिले के कई कस्बे भी बंद रहे।

घटना के बाद आरोपियों की गिरफ्तारी व अपने कार्यकर्ताओं को रिहा किए जाने की मांग को लेकर विश्व हिन्दू परिषद (विहिप), बजरंग दल तथा अन्य संगठनों ने अनिश्चितकालीन बून्दी बंद का आह्वान किया है। सोमवार को बंद के दौरान प्रदर्शन करने पर हिन्दू संगठनों के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। वहीं लगातार दूसरे दिन भी बाजार बंद रहने से लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है।
इन कस्बों में भी बंद रहे बाजार
बंद के समर्थन में जिले के ताड़ेला, हिण्डोली, केशवरायपाटन व नैनवा कस्बों के बाजार भी बंद रहे। बंद के दौरान कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली है। बून्दी एवं इन कस्बों में बंद के दौरान किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं हैं। कहीं भी दुकानों को जबरन बंद कराने के प्रयास भी नहीं किए गए। इससे हर जगह हालात सामान्य रहे। वहीं बंद के दौरान कानून व सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है।
उल्लेखनीय है कि 25 मार्च की रात रामनवमी के अवसर पर निकाली जा रही शोभायात्रा पर मीरा गेट क्षेत्र में कुछ लोगों ने पथराव कर दिया था। इससे एक होमगार्ड व जुलूस में शामिल एक युवक घायल हो गया था। तब ही से शहर में अधिक तनाव व्याप्त हो गया। बंद के पहले दिन भी प्रदर्शन कर रहे कई लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया था।

लोकेश ठाकुर सहित 5 को मिली जमानत

बंद के दौरान दोनों पक्षों के गिरफ्तार किए गए सभी 17 लोगों को अदालत में पेश किया गया। इनमें से विभिन्न आपराधिक धाराओं जैसे धार्मिक भावनाएं भड़काने,शोभायात्रा पर पथराव करने, वर्ग विशेष के व्यापारिक प्रतिष्ठानों में तोड़फोड़ करने व साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के सभी 12 आरोपियों को जेल भेज दिया गया। इनमें महेश जिंदल, गौरव शर्मा, तुषार पारीक, मनीष मेवाड़ा, संदीप शृंगी, प्रशांत मोदी, निजाम मद्रासी, निजामुद्दीन अजमेरी, गोट्या, वारिस, नदीम व परवेज शामिल हैं। वहीं शांतिभंग के 5 आरोपियों नगर परिषद में प्रतिपक्ष नेता लोकेश ठाकुर सहित भानु शर्मा, मनीष सिसोदिया, गोविन्द मेघवंशी व संकल्प को 50-50 हजार रुपए के जमानत मुचलकों पर छोड़ने के आदेश जारी कर दिए।