बड़ी खबर: डेटा चोरी के आरोप के बाद कांग्रेस ने प्ले स्टोर से अपना एप हटाया

0
276

न्यूज चक्र @ नई दिल्ली/सेन्ट्रल डेस्क
कांग्रेस और बीजेपी के एक-दूसरे पर डेटा लीक करने के आरोपों के बीच कांग्रेस ने प्ले स्टोर से अचानक अपना एप हटा कर सबको चौंका दिया। बीजेपी के आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय ने दावा किया था कि कांग्रेस पार्टी अपने आधिकारिक एप और वेबसाइट्स के जरिये डेटा सिंगापुर में विदेशी कम्पनियों को दे रही है। गौरतलब है कि राहुल गांधी कुछ दिन पूर्व ही सिंगापुर से लौटे हैं। कांग्रेस के डेटा चोरी करने का आरोपों के बाद एप हटाने पर मालवीय ने कहा, ‘कांग्रेस पार्टी और राहुल गांधी ने जो मनगढ़ंत आरोप बीजेपी पर, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के एप पर लगाए थे, वह उलटा उन पर ही भारी पड़ रहे हैं। मैंने आज ही स्क्रीन शॉट्स और पूरे तथ्यों के साथ देश के सामने रख दिया था कि कौन, क्या एप चोरी कर रहा है।’
डेटा लीक के आरोपों पर बीजेपी नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा, ‘बीजेपी के आईटी सेल प्रमुख को इस पर प्रतिक्रिया देनी ही चाहिए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को इस पर संज्ञान लेना चाहिए और आधारहीन आरोपों पर तथ्यों के साथ जवाब देना चाहिए। बीजेपी आईटी सेल फिलहाल सिर्फ पलटवार कर रही है। इससे कौन सा उद्देश्य सिद्ध होगा?’
यह विवाद फ्रांस की रिसर्चर हैकर एल्डरसन के पहले नरेन्द्र मोदी एप और फिर कांग्रेस की वेबसाइट्स और डेटा के जरिये डेटा चोरी होने का दावा करने से शुरू हुआ था। दोनों ही प्रमुख पार्टियों ने एक दूसरे पर जनता की जानकारियों को बिना उन्हें बताए शेयर करने के आरोप लगाए हैं।
कल रविवार को ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर नमो एप के सहारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर हमला बोला था। बीजेपी ने वैसे तो कुछ देर में ही पलटवार कर दिया था, पर उसी स्टाइल में पार्टी की ओर से पूरी रिसर्च के साथ सोमवार सुबह ट्वीट किया गया। इसमें बीजेपी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस पार्टी के एप से जनता की जानकारी सिंगापुर भेजी जा रही है। इसके बाद कांग्रेस ने बैकफुट पर आते हुए अपने एप को हटा लिया तो बीजेपी के आरोपों को और बल मिल गया, वह और अधिक आक्रामक हो गई।