विवादित बयान के साथ नरेश अग्रवाल की बीजेपी में एंट्री

0
352

न्यूज चक्र @ नई दिल्ली/सेन्ट्रल डेस्क
समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल ने सोमवार को बीजेपी का दामन थाम लिया। दिल्ली में आयोजित एक प्रेस कांफ्रेन्स में उन्होंने इसकी घोषणा की। अग्रवाल इस बार दुबारा राज्यसभा का टिकट न दिए जाने बसपा के साथ हुए गठबंधन के चलते पार्टी नेतृत्व से नाराज थे।
अग्रवाल की यह नाराजगी प्रेस कांफ्रेन्स में जाहिर भी हो गई। जया बच्चन को टिकट दिए जाने पर टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा कि फिल्मों में डांस और रोल करने करने वाली से उनकी तुलना कर दी गई। इतना ही नहीं बसपा से गठबंधन पर कहा कि समाजवादी पार्टी ने गठबंधन के जरिये एक क्षेत्रीय पार्टी की हैसियत से भी खुद को हटा दिया है। जबकि 2012 में समाजवादी पार्टी पूरी तरह से सरकार में आई थी। वहीं उन्होंने मुलायम सिंह और राम गोपाल यादव का साथ न छोड़ने की भी बात कही।  गौरतलब है कि सपा ने नरेश अग्रवाल और किरणमय नंदा को दरकिनार करते हुए जया बच्चन को फिर से राज्यसभा सदस्य का उम्मीदवार बनाया है। रामगोपाल यादव किसी पिछड़े नेता को सपा से राज्यसभा भेजना चाहते थे। नरेश अग्रवाल भी इस सीट के लिए प्रबल दावेदार माने जा रहे थे। मौजूदा विधायकों की संख्या के आधार पर समाजवादी पार्टी इस बार केवल एक केंडिडेट को ही राज्यसभा भेज सकती है। इसलिए उसने जया बच्चन को ही टिकट दिया है। जया भी वर्तमान में राज्यसभा सांसद हैं।
सोशल मीडिया पर तगड़े तंज
अग्रवाल ने आज दिल्ली में रेल मंत्री पीयूष गोयल की मौजूदगी में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की थी। यह खबर सामने आते ही सोशल मीडिया पर उनके पक्ष-विपक्ष में ढेरों पोस्ट आने लग गईं। कोई अग्रवाल के इस निर्णय पर तंज कस रहा है, मजाक उड़ा रहा है तो कई लोग उनके इस फैसले का स्वागत भी कर रहे हैं। एक यूजर ने तंज कसते हुए लिखा है कि, ट्विटर पर हल्ला है नरेश अग्रवाल बीजेपी की वाशिंग मशीन में जा रहे हैं, साफ-सुथरे होकर निकलेंगे। एक अन्य यूजर ने बीजेपी के इस कदम को ही गलत बताते हुए गुस्सा जताया और लिखा, बीजेपी इतनी नाकाबिल हो गई है कि नरेश अग्रवाल को पार्टी में शामिल कर रही है। हो सकता है कल ओबैसी को भी शामिल कर ले।
ट्विटर पर ये भी…
ट्विटर पर कई यूजर नरेश अग्रवाल के पुराने बयानों को भी शेयर कर रहे हैं। एक यूजर ने लिखा है कि ये वही नरेश अग्रवाल हैं ना, जिन्होंने हिन्दू देवी-देवताओं की तुलना शराब से की थी। एक यूजर ने लिखा है कि नरेश अग्रवाल ने भगवान राम का अपमान किया है। बीजेपी में उन्हें शामिल करने के लिए अमित शाह को थोड़ी शर्म आनी चाहिए। दूसरे यूजर ने गुस्से में लिखा अब बीजेपी को आजम खान से भी बात करनी चाहिए।