कोटा: करोड़ों रुपए अण्डर ग्राउंड, लेकिन केबल अभी तक सड़क पर

कम्पनी ने फिर डाल दी पोल पर मोटी केबल, वहीं गत सरकार के समय अण्डर ग्राउंड केबल डालने के लिए लगे पैनल बाॅक्स खा रहे हैें धूल

0
286
कोटा। महावीर नगर थाने के पास लगा हुआ अनुपयोगी विद्युत पैनल बाॅक्स।

न्यूज चक्र @ कोटा

शहर को पोल लेस बना कर बिजली के तारों के जाल से मुक्ति दिलाने के लिए गत सरकार ने विद्युत केबलों को अण्डर ग्राउण्ड करने की योजना बनाई थी। इसके तहत लाखों रुपए खर्च कर मोटी-मोटी केबलें गलियों में बिछाई गईं, जगह-जगह पैनल बाॅक्स लगाए गए। मगर जब सरकार बदली तो, योजना में भी बदलाव हो गया। केबल के साथ ही लाखों रुपए अण्डर ग्राउंड ही रह गए, और नई सरकार ने निजी कम्पनी को शहर की विद्युत व्यवस्था सौंप दी। यह कम्पनी फिर से पुरानी तर्ज पर ही काम कर रही है।

इस नई कम्पनी ने अब फिर से पोल पर ही मोटी केबल बिछाना शुरू कर दिया है, लेकिन पहले से जमीन में गड़ी केबल अस्त-व्यस्त जमीन पर ही पड़ी हुई है। जगह- जगह लगाए गए पैनल बाॅक्स भी ठूंठ की तरह खड़े होकर विद्युत विभाग के द्वारा आयकर दाताओं के गाढे़ कमाई को बर्बाद करने की कहानी बयां कर रहे हैं। इन पैनल बाॅक्स से लोगों को आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं, इनसे विद्युत आपूर्ति सुचारू करने को लेकर भी लोगों को गहरी आशंका है। इन पैनल बाॅक्स के सड़क पर होने के कारण इनसे करंट का खतरा मान लोग इनसे आपूर्ति शुरू किए जाने के पक्ष में नहीं हैं। इनकी मांग है कि इन पैनल बाॅक्स को उखड़वा कर इन्हें बर्बाद होने से बचाना चाहिए। इससे आवागमन में होने वाली परेशानी भी खत्म हो जाएगी। इस सम्बन्ध में अधिकारियों का कहना है कि केबल को अण्डर ग्राउण्ड कर भी दिया जाए तो भी शहर को पोल लेस नहीं किया जा सकेगा, क्योंकि रोड लाइट के लिए तो पोल लगाने ही होंगे। अब पोल पर केबल डलने के कारण पैनल बाॅक्स की कोई उपयोगिता नहीं रही है, मगर इनके लिए नई योजना का इंतजार है।

कोटा। महावीर नगर थाने के पास पोल पर विद्युत केबल डालने का काम जारी।