केजरीवाल के घर मुख्य सचिव से बदसलूकी के आरोप के बाद दिल्ली में बवाल

0
330

न्यूज चक्र @ नई दिल्ली / सेन्ट्रल डेस्क
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर सोमवार रात आम आदमी पार्टी के विधायकों के द्वारा मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से बदसलूकी करने के आरोप के बाद बवाल मच गया। दिल्ली के सारे अफसर हड़ताल पर चले गए। आरोपी विधायक देवली सीट के प्रकाश जरवाल बताए गए हैं। जरवाल ने उलटे उप राज्यपाल (एलजी) अनिल बैजल से मुख्य सचिव के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज कर क़ानूनी कार्रवाई  की मांग की है। इसमें विधायक ने आरोप लगाया है कि मुख्य सचिव ने उन सहित विधायक अजय दत्त के ख़िलाफ़ जाति-सूचक शब्दों का इस्तेमाल किया। इस मामले में नया घटनाक्रम यह है कि सीएम के मीडिया सलाहकारों ने दिल्ली सचिवालय में ही अफसरों के द्वारा मंत्री इमरान हुसैन और पार्टी नेता आशीष खेतान से मारपीट का आरोप लगाया है।
मुख्य सचिव के आरोपों को दिल्ली सरकार ने बेबुनियाद बताते हुए उन पर उप राज्यपाल के इशारों पर काम करने का आरोप लगाया है। यह घटना केजरीवाल के घर हुई आम आदमी पार्टी के विधायकों की बैठक की बताई गई है। इस दौरान केेेेजरीवाल भी मौजूद थे। बैठक सरकार के तीन साल की उपलब्थियों को लेकर विज्ञापन दिए जाने के मसले पर बुलाई गई थी। इसमें मुख्य सचिव को देर रात बुलाया गया। विज्ञापन दिए जाने के मसले पर ही इसमें दोनों पक्षों में तकरार हुई। मामला हाथापाई तक पहुंच गया। इस घटनाक्रम में पहले हड़ताल की घोषणा कर चुुके दिल्ली के अफसरों ने बाद में कहा कि वो दफ्तर तो जाएंगे, लेकिन काम नहीं करेंगे। उनकी मांग है कि जब तक विधायक माफी नहीं मांगते और मुख्य सचिव माफ नहीं कर देते, तब तक वे अपना विरोध जारी रखेंगे। इस दौरान वे काम नहीं करेंगे।
अफसर डीएन सिंह ने तो विधायक को बर्खास्त करने की मांग की है। सिंह ने कहा कि उनके 30 साल के केरियर में ऐसा कभी नहीं हुआ कि मुख्य सचिव के साथ ऐसा सुलूक किया गया हो। इस मामले में अब तक कोई लिखित शिकायत नहीं की गई है। इस मामले में सफाई देते हुए आम आदमी पार्टी ने कहा है कि कल रात हुई बैठक में मुख्य सचिव के साथ कोई बदसलूकी नहीं हुई, बल्कि आम आदमी पार्टी की तरफ से कहा गया है कि बैठक में मुख्य सचिव ने विधायकों से उनके प्रति जवाबदेह नहीं होने की बात कही। एलजी इसका जवाब दें। मुख्य सचिव ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आप के दो विधायकों के खिलाफ केज दर्ज करने की मांग की है।
आप की सफाई
अरविंद केजरीवाल ने आरोपों को खारिज किया है। उन्होंने कहा कि ऐसी कोई बदसलूकी नहीं हुई। आप नेता आतिशी मारलेना का कहना है कि मुख्यमंत्री के आवास पर विधायकों की बैठक थी। मुख्य सचिव ने विधायकों के सवाल के जवाब देने से यह कहकर मना किया कि वो आप के नहीं, एलजी को जवाबदेह हैं। कुछ विधायकों के खिलाफ मुख्य सचिव ने गंदे शब्द भी इस्तेमाल किये। ये गलत खबर है कि टीवी एड को लेकर मीटिंग में बहसबाज़ी हुई। सारी बहस इस बात को लेकर थी कि कैसे बड़ी संख्या में परिवारों को राशन नहीं मिल रहा है।
गौरतलब है कि गत वर्ष दिसम्बर में प्रकाश को दिल्ली सरकार का मुख्य सचिव नियुक्त किया गया था। अधिकारियों के साथ आम आदमी पार्टी के हमेशा से तल्ख रिश्ते रहे हैं। वर्ष 2015 में तत्कालीन एलजी नजीबजंग ने शकुंतला गैमलिन को मुख्य सचिव नियुक्त किया था। गैमलिन की नियुक्ति की आम आदमी पार्टी की सरकार ने भारी विरोध किया था।