मोदी ने किया देश की पहली इको फ्रेंडली रिफाइनरी के कार्य का शुभारम्भ

पचपदरा में ऑयल रिफाइनरी के शुभारम्भ के बाद जनसभा को सम्बोधित करते हुए पीएम नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस पर जमकर साधा निशाना। कहा-केवल पत्थर लगाने से लोगों को गुमराह नहीं किया जा सकता। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि इस परियोजना से न केवल बाड़मेर बल्कि पूरे पश्चिमी राजस्थान की अर्थव्यवस्था मजबूत होगी।

0
454

 

न्यूज चक्र @ बाड़मेर
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मंगलवार को राजस्थान के बाड़मेर जिले के पचपदरा में देश की पहली इको-फ्रेंडली रिफाइनरी के कार्य का शुभारंभ किया। इस कार्यक्रम के दौरान राज्य की सीएम वसुंधरा राजे और केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के अलावा केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री और बीकानेर से सांसद अर्जुन राम मेघवाल, गजेन्द्र सिंह शेखावत, पीपी चौधरी आदि भी मौजूद रहे। केन्द्र सरकार के उपक्रम और राज्य सरकार के साझा प्रयासों से बनने वाली ये रिफाइनरी 4 वर्षों में बनेगी। इस रिफाइनरी को हिन्दुस्तान पेट्रोलियम और राजस्थान सरकार मिलकर बना रही है। ऐसा अनुमान है कि इस रिफाइनरी सह पेट्रोकेमिकल परिसर की सालाना क्षमता 90 लाख मैट्रिक टन होगी।
रिफाइनरी के शुभारम्भ के बाद पीएम मोदी ने जनसभा को सम्बोधित किया और साल 2013 में इस परियोजाना का शिलान्यास करके इसे ठंडे बस्ते में डालने वाली तत्कालीन कांग्रेस सरकार पर भी निशाना साधा।
पीएम मोदी ने कहा ‘खम्मा घणी
अपने सम्बोधन की शुरुआत प्रधानमंत्री मोदी ने राजस्थानी भाषा में नमस्कार के साथ की। पीएम मोदी ने कहा, ‘खम्मा घणी’। पीएम मोदी ने कहा कि मकर सन्क्रांति के बाद खुशहाली का आना तय होता है। आज मकर सन्क्रांति के दो दिन बाद इसकी शुरुआत हो चुकी है।
संतों की धरती को किया प्रणाम
मोदी ने कहा कि मैं सीएम वसुंधरा राजे जी को, धर्मेन्द्र प्रधान जी को और राजस्थान वासियों को शुभकामनाएं देता हूं। उन्होंने कहा कि बाड़मेर की यह धरती संतों की धरती है। मैं इस धरती को नमन करता हूं। पचपदरा की यह धरती स्वाधीनता सेनानियों की कर्मभूमि रही है। इस क्षेत्र में पीने का पानी और ट्रेन लाने में, पहला कॉलेज खोलने में गुलाब चंद जी को हर कोई याद करता है। मैं पचपदरा के इस सपूत को याद करता हूं।
यह संकल्प से सिद्धि का समय 
पीएम मोदी ने कहा कि यह राजस्थान को ऊर्जावान बनाने की अहम शुरुआत है। केवल पत्थर लगाने से लोगों को गुमराह नहीं किया जा सकता है। काम के शुरू होने के बाद ही जनता में विश्वास जगाया जाता है। यह समय संकल्प से सिद्धि का समय है। आज आपने संकल्प लिया है कि 2022 तक इस रिफाइनरी का कार्यारम्भ कर दिया जाएगा। मुझे विश्वास है कि देश जब आजादी के 75 साल मनाएगा, तब यहां से देश को नई ऊर्जा मिलना प्रारम्भ हो जाएगा।
कांग्रेस और अकाल जुड़वा भाई
पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस के स्वभाव में है जनता को गुमराह करना। राजस्थान में मैंने लोगों से सुना है कि अकाल और कांग्रेस जुड़वा भाई है। जहां कांग्रेस जाती है वहां अकाल आ जाता है। बड़ी-बड़ी बातें करना, लोगों को धोखा देना कांग्रेस की कार्यशैली है। कांग्रेस ने केवल बाड़मेर में ही जनता की आंखों में धूल नहीं झोंकी है, जो लोग रिसर्च करना चाहते हैं वह देख सकते हैं कि कहां-कहां ऐसा किया गया है। कांग्रेस के राज में रेलवे की 1500 योजनाएं पूरी नहीं हुई।
वन रैंक वन पेंशन पर कांग्रेस ने सैनिकों को दिया धोखा
पीएम मोदी ने आगे कहा कि ​कांग्रेस ने पूर्व सैनिकों के साथ भी धोखा किया। वन रैंक वन पेंशन लागू नहीं किया। कांग्रेस ने ओआरओपी के लिए 500 करोड़ रुपए लागू करने की बात कही थी, लेकिन ओआरओपी के आंकड़े जुटाने में उन्हें डेढ़ साल लग गया। पीएम मोदी ने कहा कि बाड़मेर रिफाइनरी तो कागजों पर आ गई, लेकिन ओआरओपी कागजों पर भी नहीं आ सका। पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने 500 करोड़ की बात की थी, हमने 12 हजार करोड़ दिया।
भैरोंसिंह शेखावत को किया याद, जसवंत के लिए प्रार्थना
पीएम मोदी ने कहा कि मैं इस धरती पर भैरोंसिंह शेखावत जी को भी याद करना चाहता हूं. आधुनिक राजस्थान बनाने के लिए मैं शेखावत जी को नमन करता हूं। मोदी ने बीजेपी के वरिष्ठ नेता जसवंत सिंह के लिए भी प्रार्थना की। उन्होंने कहा कि हम सभी को उनके अच्छे स्वास्थ्य के लिए प्रार्थना करनी चाहिए।
दलपत सिंह शेखावत के बलिदान को सलाम
पीएम मोदी ने कहा कि इजरायल के पीएम इन दिनों भारत की यात्रा पर आए हुए हैं। देश आजाद होने के बाद मैं पहला पीएम था जो इजरायल की धरती पर गया। मेरे राजस्थान के वीरों आपको गर्व होगा कि जब मैं इजरायल गया तो समय की व्यस्थता के बीच भी मैं हाइफा गया और वहां जा करके प्रथम विश्व युद्ध में हाइफा को आजाद कराने में जिन वीरों ने बलिदान दिया उनको नमन किया। राजस्थान की धरती के वीर मेजर दलपत सिंह शेखावत ने इसमें नेतृत्व किया।
दिल्ली में तीन मूर्ति में एक मूर्ति दलपत सिंह शेखावत की है। प्रधानमंत्री ने कहा कि राजस्थान वीरों की धरती है। इतिहास में कोई ऐसी घटना नहीं रही होगी जिसमें इस धरती का योगदान ना रहा हो। मैं इस वीरों की धरती को प्रणाम करता हूं। हमें राजस्थान को आगे लेकर जाना है।
एचपीसीएल राजस्थान रिफाइनरी लिमिटेड होगा नाम
43 हजार 129 करोड़ रुपए की अनुमानित लागत से बनने वाली आधुनिक रिफाइनरी के लिए 17 अगस्त को राजस्थान सरकार तथा सार्वजनिक क्षेत्र की हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एचपीसीएल) के बीच समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किए गए थे। समझौते के मुताबिक संयुक्त उद्यम कम्पनी का नाम ‘एचपीसीएल राजस्थान रिफाइनरी लिमिटेड’ होगा। इसमें एचपीसीएल की 74 प्रतिशत और राजस्थान सरकार की 26 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी। पर्यावरण अनुकूल तकनीक वाली यह रिफाइनरी भारत मानक-6 दर्जे के पेट्रोलियम उत्पादों को तैयार करने वाली देश की पहली रिफाइनरी होगी।
इससे पहले बाड़मेर के उत्तरलाई हवाई अड्डे पर पहुंचे पीएम मोदी का सीएम वसुंधरा राजे ने स्वागत किया। यहां से ये हेलिकॉप्टर में पचपदरा पहुंचे। इसके साथ ही केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने भी ट्वीट कर इस परियोजना से होने वाले लाभ के बारे में बताया। एक तस्वीर के जरिए केन्द्रीय मंत्री ने बताया कि इस प्रोजेक्ट से राजस्थान में इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट की नई गाथा लिखी जाएगी। इससे राज्य में सड़कों के निर्माण, बेहतर स्वास्थ सेवाएं और नए स्कूल-कॉलेज खोलने में मदद मिलेगी।
केन्द्रीय मंत्री ने बताया कि इस रिफाइनरी के बनने के दौरान ही राज्य में 40 हजार से ज्यादा लोगों को परोक्ष रूप से रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। वहीं 1 हजार लोगों को प्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा।
विपक्ष का विरोध
कांग्रेस इस कार्यक्रम को राजस्थान में इसी महीने के अंत में 3 उपचुनाव से जोड़कर देख रही है। बाड़मेर जिला कांग्रेस के अध्यक्ष फ़तेह खान का कहना है कि यह कार्यक्रम चुनाव को देखकर किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस रिफाइनरी का​ शिलान्यास 2013 में सोनिया गांधी कर चुकी हैं। निमंत्रण पत्र पर शिलान्यास के बदले कार्य शुभारम्भ लिखा गया है।