कोचिंग छात्रों को अच्छा भोजन व अन्य सभी सुविधाएं दें हॉस्टल

हॉस्टलों के लिए बनाई गाइड लाइन की जिला कलक्टर ने की समीक्षा, एसोसिएशन प्रति सप्ताह प्रशासन व पुलिस को भेजेंगी सूचना

0
236

न्यूज चक्र @ कोटा
शहर में संचालित हॉस्टल संचालकों एवं एसोसिएशन की बैठक सोमवार को जिला कलक्टर रोहित गुप्ता की अध्यक्षता में टैगोर सभागार में आयोजित की गई। बैठक में पुलिस अधीक्षक, शहर अंशुमान भौमिया, अतिरिक्त कलक्टर प्रशासन सुनिता डागा सहित कोटा हॉस्टल एसोसिएशन, चम्बल हॉस्टल एसोसिएशन एवं इलेक्ट्रॉनिक कॉम्पलेक्स एसोसिएशन के प्रतिनिधि मौजूद थे।
जिला कलक्टर ने कहा कि कोचिंग संस्थानों में अध्ययन के लिए आने वाले छात्रों को गुणवत्तापूर्ण भोजन एवं आधारभूत सुविधाओं व सुरक्षा के मापदण्ड पर खरे उतरते हुए सभी हॉस्टल जिला प्रशासन की गाइड लाइन का पालन करें। उन्होंने सभी हॉस्टलों में सीसी टीवी कैमरे, आवासरत छात्रों की नियमित उपस्थिति लेने व मॉनिटरिंग के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जो वि़द्यार्थी 24 घंटे तक अनुपस्थित रहे, उसकी सूचना तुरन्त सम्बन्धित थाने को लिखित में प्रस्तुत करने के साथ अभिभावकों को भी सूचित करें। हॉस्टल एसोसिएशन प्रति सप्ताह गाइड लाइन की पालना के सम्बन्ध में हॉस्टलों द्वारा की जा रही कार्यवाही की सूचना जिला कलक्टर कार्यालय एवं पुलिस अधीक्षक कार्यालय में भिजवाना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने कहा कि ऐसे विद्यार्थी जिनका व्यवहार खराब है अथवा जो हॉस्टल के नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं, उनकी सूचना परिजनों को देकर हॉस्टल से बाहर करने की कार्यवाही करें।
पुलिस अधीक्षक ने कहा कि अच्छा आवास व गुणवत्तापूर्ण भोजन के साथ बच्चों की निरन्तर निगरानी आवश्यक है। उन्होंने सभी हॉस्टलों में उपस्थित स्टाफ, गार्ड व वार्डन का एक माह में पुलिस सत्यापन करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि हॉस्टलों में आवासरत विद्यार्थियों के साथ स्टाफ का आचरण व व्यवहार अच्छा रहे। हॉस्टलों के आसपास की गतिविधियों, ड्रग्स व आपत्तिजनक स्थितियों पर भी निगरानी रखें।
अतिरिक्त कलक्टर प्रशासन ने कहा कि हॉस्टलों के आसपास सफाई एवं जिला प्रशासन की गाइड लाइन की अक्षरशः पालना सुनिश्चित की जाए। बैठक में हॉस्टलों में उपस्थिति दर्ज करने के लिए बनाई गई डिवाइस का भी प्रदर्शन किया गया। इसे प्रशासन द्वारा सभी हॉस्टलों में लगवाने के लिए प्रेरित करने की बात कही गई।
कोटा हॉस्टल एसोसिएशन के नवीन मित्तल ने बताया कि कोचिंग संस्थान हॉस्टलों का रजिस्ट्रेशन भौतिक सत्यापन के बाद ही करें, यह सुनिश्चित किया जाए। एसोसिएशन गाइड लाइन की पालना नहीं करने वाले हॉस्टलों के खिलाफ कार्यवाही के लिए जिला प्रशासन के साथ रहेगा। इस अवसर पर चम्बल हॉस्टल एसोसिएशन के विश्वनाथ शर्मा, अशोक जैन, विशाल पाठक, इलेक्ट्रॉनिक निक कॉम्पलेक्स के कमलदीप सिंह, कोटा हॉस्टल एसोसिएशन के शम्मी कपूर, पंकज जैन सहित सभी प्रतिनिधियों ने भाग लिया।