राजस्थान : यात्रियों से भरी बस नदी में गिरी, 33 की मौत

0
447

न्यूज चक्र @ सवाईमाधोपुर/ सेन्ट्रल डेस्क
बनास नदी की पुलिया से गुजरते समय शनिवार सुबह यात्रियों से भरी एक बस नदी में गिर गई। इस हादसे में 33 यात्रियों की मौत हो चुकी है और कई अन्य घायल हैं। बताया गया है कि बस में क्षमता से अधिक कुल 40 यात्री सवार थे। पहले ऐसी अफवाह उड़ी थी कि ड्राइवर नाबालिग था। मगर पुलिस ने इसे गलत बताते हुए कहा है कि ड्राइवर जाकिर हुसैन की उम्र 35 से 40 के बीच थी। उसका लाइसेंस भी वैध था। मारे गए यात्रियों में महिलाएं व बच्चे भी शामिल हैं। राज्य सरकार ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपए व घायलों को 50 हजार रुपए दिए जाने की घोषणा की है।
यह हादसा सुबह करीब साढ़े सात बजे हुआ। जानकारी मिलते ही मौके पर पुलिस व राहतकर्मियों का दल पहुंचा। घायलों को हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया। यह हादसा उस समय हुआ जब बस सवाईमाधोपुर से लालसोट जा रही थी। पुलिस ने शुरुआती जांच के हवाले से बताया कि बस की रफ्तार संभवतया बहुत तेज थी। चालक ने बस पर नियंत्रण खो दिया। इससे बस दाहिनी ओर की रेलिंग तोड़ते हुए करीब सौ फुट की ऊंचाई से बनास नदी में जा गिरी।
पुलिस अधीक्षक मामन सिंह ने बताया कि हादसे की जानकारी मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंच ग्रामीणों की मदद से लोगों को निकालने का काम शुरू कर दिया था। विधायक दिया कुमारी भी मौके पर पहुंची व राहत कार्य की जानकारी ली। मृतकों में कुछ उत्तर प्रदेश व अन्य राज्यों के भी बताए हए हैं।

मृतकों के नाम
1. ओम प्रकाश गुप्ता पुत्र प्रहलाद, निवासी केशव नगर
2. राहिना देवी
3. जाकिर हुसैन (ड्राइवर), निवासी रामबाग शहर
4. परमानंद अग्रवाल, निवासी मलारना चौड़
5. प्रेम देवी, निवासी खेरड़ा
6. मुरारी प्रजापत, निवासी डिबोली
7.जाहिदा पत्नी हनीफ, निवासी मलारना चौड़
8.गफ्फार पुत्र फकरुद्दीन, निवासी मैनपुरा
9. सत्यनारायण पुत्र हजारी लाल, निवासी जामलोडी
10. आेम प्रकाश पुत्र बाबूलाल मीणा, निवासी लालसोट दौसा
11 शाहरुख पुत्र नफीस, निवासी करमोदा
12 रूप सिंह गुर्जर पुत्र फुल सिंह गुर्जर, निवासी गुडला नदी बून्दी
13.शेरू पुत्र भौरया निवासी, खिरनी
14. रामप्यारी पत्नी गोपीनाथ, निवासी दहलोद
15. राजेश पुत्र हरिराम महावर, निवासी जामलोडी
16. आबिद पुत्र अफसर, निवासी मुराराबाद उत्तर प्रदेश

17 मृतकों की अभी पहचान नहीं हुई है। इनकी शिनाख्त करने की कोशिश जा रही है। मृतकों में अधिकतर लोग सवाई माधोपुर और दौसा के रहने वाले हैं।