लोकेश ठाकुर की चुनौती:बून्दी जिला प्रभारी का पहला दौरा ही रहा हंगामेदार

0
239
बून्दी। सर्किट हाउस में जिला अधिकारियों की बैठक लेते जिला प्रभारी मंत्री ओटाराम देवासी।

न्यूज चक्र @ बून्दी

गोपालन राज्यमंत्री एवं बून्दी जिला प्रभारी मंत्री ओटाराम देवासी का शुक्रवार को यहां का पहला दौरा ही हंगामेदार रहा। पहले तो पुलिस ने कांग्रेसी नेताओं को उनसे मिलने से रोका तो उनकी पुलिस से धक्का-मुक्की हो गई। इन्होंने तगड़ी नारेबाजी की। कांग्रेसियों को काफी मशक्कत के बाद अंदर जाने की इजाज़त मिली तो वहां विधायक व नगर परिषद के सभापति से उनकी खासी झड़प हुई।

हुआ यूं कि नगर परिषद में प्रतिपक्ष नेता लोकेश ठाकुर अपने समर्थकों के साथ राज्य मंत्री देवासी को शहर की बदहाली के खिलाफ ज्ञापन देने सर्किट हाउस पहुंचे तो पुलिस अधिकारियों ने उन्हें रोक दिया। इस पर ये कांग्रेसी कार्यकर्ता बिफर गए और जोरदार नारेबाजी करने लगे। माहौल गर्माता देख पांच कार्यकर्ताओं को देवासी से मिलने की इजाज़त दे दी। मगर लोकेश ठाकुर अपने साथ शहरवासियों के हस्ताक्षरों वाला बैनर भी अंदर राज्य मंत्री को देने ले जाने लगे तो पुलिस अधिकारियों ने उन्हें फिर रोक दिया। इस पर एक बार फिर हंगामा होने के साथ कांग्रेसियों की पुलिस से धक्का-मुक्की होने लगी। बाद में उन्हें बैनर बाहर ही छोड़ना पड़ा। अंदर भी ठाकुर जब राज्यमंत्री के सामने खुदी पड़ी सीवरेज लाइनों से बदहाल शहर की समस्या उठाने लगे तो वहां मौजूद नगर परिषद के सभापति महावीर मोदी उखड़ गए। ठाकुर ने देवासी से शहर का दौरा कर हालात देखने की चुनौती दे डाली। साथ ही कहा कि शहर का कोई धणी-धोरी नहीं है। सीवरेज लाइन के ठेकेदार पर कोई कंट्रोल नहीं है। ठाकुर ने विधायक और सभापति पर बदले की भावना से काम करने का आरोप लगा डाला। इस पर विधायक अशोक डोगरा से उनकी तगड़ी तकरार हो गई। इसी बीच सभापति मोदी नॅ कहा कि जल्दी ही शहर की दशा सुधर जाएगी। इस पर ठाकुर और मोदी के बीच तकरार शुरू हो गई। बाद में भाजपा जिलाध्यक्ष महिपत सिंह हाड़ा ने बीच-बचाव कर मामला शांत कराया।

राज्यमंत्री ने अधिकारियों की बैठक ले दिए दिशा-निर्देश

इस घटनाक्रम के बाद जिला प्रभारी मंत्री ने सांयकाल सर्किट हाउस में जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेकर जिले के प्रमुख मुद्दों, समस्याओं एवं संचालित योजनाओं की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि बून्दी विकास के पथ पर लगातार अग्रसर है। हम सब मिलकर इसे और गति देंगे। जिलास्तर पर होने वाली बैठकों में जिले की समस्याओं व प्रमुख मुद्दों पर विस्तार से चर्चा कर हल निकाले जाएंगे।
इस अवसर पर देवासी ने शहर में जारी सीवरेज कार्य की प्रगति की जानकारी ली। साथ ही निर्देश दिए कि पूरे शहर में एक साथ खुदाई कार्य करने की बजाय एक फेज का कार्य पूरा करते हुए आगे बढ़ा जाए। उड़द खरीद के मुद्दे पर आ रही दिक्कतों को उन्होंने गंभीरता से लेते हुए राज्य स्तर पर इस सम्बन्ध में आवश्यक चर्चा कर समाधान निकालने की बात कही। इस दौरान उन्होंने सार्वजनिक निर्माण, सिंचाई, पशुपालन सहित अन्य योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा की। बैठक में राज्य सफाई कर्मचारी आयोग अध्यक्ष गोपाल पचेरवाल व बूंदी विधायक अशोक डोगरा ने भी जिले की समस्याएं उठाईं।
जिला प्रभारी मंत्री ने अपने इस पहले दौरे के दरमियान आमजनों के जरिए सामने आई समस्याओं को ध्यानपूर्वक सुना और इस सम्बन्ध में जिला कलक्टर को आवश्यक कार्यवाही कर उनके आगामी दौरे तक समाधान करने की बात कही। उन्होंने कहा कि गौ वंश संरक्षण के लिए विशेष प्रयास भी किए जाएंगे।
बून्दी जिला प्रदेश में छठे पायदान पर
बैठक में जिला कलक्टर शिवांगी स्वर्णकार ने बताया कि राज्य सरकार की योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन में जिले ने छठी वरीयता प्राप्त की है। मई माह में जिला 23 वें स्थान पर था, जो हाल ही जारी रैंकिंग में छठे स्थान पर आ गया है। इसके लिए उन्होंने जिला प्रशासन की टीम को बधाई दी। साथ ही जिला प्रभारी मंत्री को भरोसा दिलाया कि जिले के विकास के लिए टीम भावना के साथ और बेहतरी से कार्य करते हुए विकास को अधिक गति दी जाएगी। मौजूदा कार्यों को समयबद्धता एवं गुणत्ता के साथ पूरा किया जाएगा।