बून्दी अदालत में पेशी पर लाए मुल्जिम पर फायरिंग, चालानी गार्ड भाग छूटे

0
75

न्यूज चक्र @ बून्दी

जिला अदालत में मंगलवार को पेशी पर लाए गए हरियाणा निवासी एक शातिर अपराधी पर कुछ युवकों ने अचानक अंधाधुंध फायरिंग कर दी। अचानक हुई इस वारदात से डरकर चालानी गार्ड तो भाग छूटे। इससे तीनों आरोपी बाइक पर आराम से फरार हो गए। बुरी तरह घायल मुल्जिम को जिला अस्पताल से कोटा रैफर कर दिया गया।

मामले के अनुसार हरियाणा के पानीपत जिले के निवासी राकेश सिंह पुत्र बलराज जाट को चालानी गार्ड अदालत परिसर में बने हुए लॉकअप से एडीजे कोर्ट दो में पेशी के लिए ले जा रहे थे। राकेश को यहां बून्दी जेल से लाया गया था। जैसे ही चालानी गार्ड उसे कोर्ट की ओर ले जाने लगे वहां घात लगाए बैठे दो युवकों में से एक ने हवाई फायर तो दूसरे ने राकेश को निशाना बनाकर फायरिंग की। मौके पर मौजूद लोगों के अनुसार राके‌श पर करीब पांच फायर किए गए। इसमें से उसे सिर, हाथ व पीठ में गोलियां घुस गईं। बुरी तरह घायल राकेश नीचे गिर गया। वहीं इस वारदात से मची आपाधापी के बीच ही दोनों आरोपी युवक अपने एक अन्य साथी के साथ बाइक पर फरार हो गए। बताया जा रहा है कि ये नैनवां रोड की ओर भागे। यह घटनाक्रम तेजी से घटित हुआ। राकेश को लेकर आए चालानी गार्ड तो गोलियां चलते ही भाग खड़े हुए। बाद में उसे पास ही स्थित जिला अस्पताल ले जाया गया। वहां डॉक्टर ने गम्भीर हालत देखते हुए राकेश को कोटा रैफर कर दिया।

हरियाणा का शातिर अपराधी है राकेश 

पुलिस के अनुसार राकेश सिंह हरियाणा में जमीन के अवैध खरीद-फरोख्त के धंधे से जुड़ी हुई एक गैंग का सरगना है। इसलिए वहां इसकी कई लोगों से रंजिश है। ऐसे ही बून्दी जिले के दबालाना थाना क्षेत्र के बड़गांव की एक जमीन को लेकर भी इसका हरियाणा के ही कुछ लोगों से विवाद चल रहा था। इस मामले में ही उसके खिलाफ अपहरण व हत्या के प्रयास की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी । इसमें उसके साथ एक और आरोपी नामजद है। इस पर कोर्ट ने दोनों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। इसी मामले राकेश की कोर्ट में पेशी थी। पुलिस को दिए बयान में राकेश ने उस पर पानीपत व सोनीपत के बदमाशों के द्वारा ही किसी की मुखबिरी के आधार पर फायर करने की आशंका जताई है।

आईजी ने भी किया मौका मुआयना

इस वारदात की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। आरोपियों की धरपकड़ के लिए हर तरफ नाकाबंदी कर दी गई। एसपी आदर्श सिद्धु, डीएसपी समदर सिंह भी मौके पर पहुंच गए। बाद में आईजी विशाल बंंसल भी कोटा से यहां पहुंचे। उन्होंने भी मौका मुआयना कर हालात की जानकारी ली। साथ ही आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए।