अनुशासन की कदमताल, नन्हे स्वयंसेवक बने आकर्षण का केन्द्र

पुराने कोटा में दो स्थानों से निकले बाल पथ संचलन, जगह-जगह हुआ स्वागत

0
51

न्यूज चक्र @ कोटा

काली टोपी और सफेद कमीज पहन, बिगुल की धुन और घोष पर कदम से कदम मिलाते चल रहे बाल स्वयंसेवकों ने हर किसी के कदमों व निगाहों को थाम लिया। यह आकर्षक नज़ारा रविवार को पुराने कोटा में देखने को मिला। करीब एक घंटे बाद जब ये नन्हे कदम थमे तो उन्हे देखने वाले सभी संघ के इन बाल स्वयंसेवकों के अनुशासन और कदमताल की प्रशंसा कर रहे थे। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की विद्यार्थी शाखाओं की ओर से पुराने कोटा में दो स्थानों से विराट बाल पथ संचलन निकाले गए थे।

शिवाजी भाग का रेलवे काॅलोनी थाने के पीछे स्थित मैदान से प्रारम्भ हुआ पथ संचलन पीपली चौक वाले बालाजी, पुरोहित जी की टापरी, तेजाजी चौक, लक्ष्मी विहार, सुंदर नगर होते हुए रेलवे काॅलोनी थाने पर विसर्जित हुआ। वहीं दीनदयाल भाग का बाल पथ संचलन रामतलाई मैदान से प्रारम्भ होकर महिला थाना, श्रीपुरा गर्ल्स स्कूल, टिपन की चौकी, सुभाष सर्किल, कैथूनीपाल, बिरला मेडिकल होते हुए रामतलाई मैदान पर सम्पन्न हुआ।

इस पथ संचलन से राष्ट्र की एकता, अखंडता को बनाए रखने के साथ ही आपसी भाईचारे को बढ़ाने व खुशहाली का संदेश दिया गया। घोष के साथ अनुशासित होकर चल रहे स्वयंसेवकों ने आमजन से एकता के सूत्र में बंधकर राष्ट्र रक्षा का संकल्प लेने का आह्वान किया। इस दौरान पूरे मार्ग को तोरण द्वारों से सजाया गया था। जहां विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों के साथ ही आमजन भारत माता की जयकारों से आसमान को गूंजा रहे थे। नन्हे स्वयं सेवक नवीन गणवेश पहने और घोष का वादन करते हुए सभी के आकर्षण का केन्द्र थे।