पीएम मोदी ने राजस्थान में 15 हजार करोड़ के विकास कार्यों का किया उद्घाटन व शिलान्यास

खेल गांव में आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ राज्यपाल कल्याण सिंह, सीएम वसुंधरा राजे व केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी भी रहे मौजूद

0
274
उदयपुर। डबोक एयरपोर्ट पर पीएम नरेन्द्र मोदी का स्वागत करते हुए राज्यपाल कल्याण सिंह और सीएम वसुंधरा राजे।
  • न्यूज चक्र @ उदयपुर

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को यहां खेल गांव में आयोजित कार्यक्रम में रिमोट का बटन दबाकर राज्य के विभिन्न जिलों के कुल 15 हजार एक सौ करोड़ रुपए की लागत के विकास कार्यों का  लोकार्पण व शिलान्यास किया। इस अवसर पर सभा को सम्बोधित करते हुए मोदी ने कहा कि हम अलग मिट्‌टी के हैं। हम में चुनौतियों से लड़ने और लड़ कर जीतने का दम है।

पीएम मोदी ने इस अवसर पर  राजस्थान सहित देश के अन्य भागों में प्राकृतिक आपदा से हुई जनधन हानि पर बोलते हुए कहा कि बाढ़ से लोगों को जान गंवानी पड़ी। राजस्थान में भी संकट आया। राज्य सरकार ने भारत सरकार को अपना प्रतिवेदन भेजा है। प्रदेश के बाढ़ पीड़ितों के लिए भारत सरकार आपके साथ खड़ी रहेगी। इस संकट से उबरकर मिलजुलकर आगे बढ़ेंगे।

चाय बेचने वाले के पास भी आता है पैसा

प्रधानमंत्री नरेन्द मोदी ने सड़कों के विकास और पयर्टन उद्योग में इसकी महत्व को समझाते हुए कहा कि राजस्थान दुनिया भर के पर्यटकों को आकर्षित करता है। पर्यटन से पैसा आता है। यह पैसा सभी वर्गों के पास आता है। मोदी ने चुटकी लेते हुए आगे कहा “यहां तक कि चाय बेचने वाले के पास भी यह पैसा आता है।” लेकिन सड़कें खराब हों तो आने वाला पयर्टक जल्द यहां से जाने की सोचने लगता है। ऐसे में सड़कों का ढांचा मजबूत होना बेहद जरूरी है। इसके लिए सरकार कार्य कर रही है। करोड़ों के प्रोजेक्ट बनाए जा रहे हैं और उनको मूर्तरूप दिया जा रहा है।

देश के सबसे बड़े हैंगिग ब्रिज पर कांग्रेस को घेरा

कोटा में बने देश के सबसे बड़े और राज्य के पहले हैंगिंग ब्रिज के निर्माण में 11 साल का समय लगने को लेकर प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि महज 300 करोड़ के इस प्रोजेक्ट को 11 साल लग गए। पुरानी सरकारों ने इसे लटकाए रखा, जबकि काम करने वाली हमारी सरकार ने 2014 से 5 हजार छह सौ करोड़ की योजनाएं बनाई और आज लोकार्पण भी हो गया। ये दोनों सरकारों में अंतर है।

खम्मा घणी कह अभिवादन करते ही लोग हुए प्रफुल्लित

प्रधानमंत्री मोदी ने जनसभा को सम्बोधित करने की शुरुआत शुरुआत ठेठ राजस्थानी अंदाज में खम्मा घणी कहते हुए की तो लोगों ने भी उनका जोरशोर से इसी अंदाज में अभिवादन किया।

प्रधानमंत्री के संबोधन से पहले केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने प्रदेश में चालू व आगामी सड़क परियोजनाओं की जानकारी दी। गडकरी के बाद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने जनसभा को सम्बोधित करते हुए प्रधानमंत्री के सामने प्रदेश में संचालित विकास योजनाओं का ब्योरा दिया।

उज्ज्वला योजना में 21 लाख महिलाओं को मिले गैस कनेक्शन

सीएम वसुंधरा ने अपने सम्बोधन में प्रदेश में जारी  सरकारी योजनओं की जानकारी दी। वसुंधरा ने बताया कि पीएम की उज्ज्वला योजना के तहत प्रदेश की 21 लाख महिलाओं को गैस कनेक्शन दिए जा चुके हैं। साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी का 4 शहरों को स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करने के लिए मिले पैसों के लिए आभार भी प्रकट किया। वसुंधरा ने मोदी को अगले साल मार्च तक पूरे प्रदेश को ओडीएफ बनाने का विश्वास दिलाया। राज्य में महाराणा प्रताप इंडियन रिजर्व बटालियन के गठन का काम पूरा करने की जानकारी भी दी।

 गडकरी ने दिया विकास कार्यों का ब्यौरा

इस अवसर पर केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने प्रदेश में रोड नेटवर्क के विकास का ब्यौरा भी दिया। उन्होंने बताया कि दिल्ली से जयपुर के जिस सफर में अभई 5-6 घंटे लग जाते हैं , वो जल्द ही ढाई घंटे का हो जाएगा। आने वाले 5 सालों में 2 लाख करोड़ रुपए के रोड का विकास होगा। उन्होंने जयपुर के प्रतिष्ठा का सवाल बने रिंग रोड प्रोजेक्ट को भी पूरा कराने की बात कही। उन्होंने कहा कि जो प्रोजेक्ट लम्बे समय से बंद पड़ा था , उसे मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के कहने पर 5 मीटिंगों में फिर से शुरू करवाया है।

डबोक एयरपोर्ट उतरे पीएम
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का विमान निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार दोपहर साढ़े बारह बजे करीब डबोक एयरपोर्ट पर  उतरा यहां राज्यपाल कल्याण सिंह और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने उनका स्वागत किया। एयरपोर्ट से  मोदी सीधे  कार्यक्रम स्थल खेल गांव पहुंचे।

इन 13 जिलों में हुआ कार्यक्रम का सीधा प्रसारण

प्रधानमंत्री के कार्यक्रमों का 13 जिलों में सीधा प्रसारण किया गया। इनमें कोटा, बाड़मेर, जैसलमेर, जोधपुर, नागौर, अलवर, जालोर, अजमेर, सीकर, चूरू, झालावाड़, बीकानेर और उदयपुर जिले शामिल थे। प्रधानमंत्री का कार्यक्रम वेबकास्टिंग के जरिये कोटा में हैंगिंग ब्रिज, बाड़मेर में टाउन हॉल सभागार, जैसलमेर में आरटीडीसी होटल, पोकरण-जंक्शन पॉइन्ट एनएच-15 तथा एनएच-114 टर्मिनेशन पॉइन्ट पर प्रसारित किया गया।