जिस भी स्तर पर हुआ, अक्षम्य है ये अपराध

कोई नेटवर्क यूपी सरकार को फेल करने में तो नहीं लगा हुआ ?

0
1072

न्यूज चक्र @ सेन्ट्रल डेस्क

बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज (बीआरडी मेडिकल कॉलेज) के सिस्टम की अक्षम्य लापरवाही, गड़बड़ है ये, या सरकार जिम्मेदार ? बच्चों की मौतों का आंकड़ा 36 पर पहुंच गया है। स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह व मेडिकल कॉलेज के निलम्बित प्रिंसिपल राजीव मिश्रा इन मौतों को ऑक्सीजन की कमी से होना नहीं मान रहे हैं। जबकि हर मृत बच्चे के अभिभावक ने ऑक्सीजन की कमी को ही मौत का कारण बताया है। साथ ही यह भी कहा है कि योगी सरकार में भी सिस्टम पहले की ही तरह है, कुछ भी नहीं बदला। यह बड़े सवाल उठाता है। क्योंकि योगी सरकार की नीयत और उसके प्रयासों पर तो कोई शक नहीं जता रहा है, फिर क्या कारण है कि इतना बड़ा नरसंहार हो गया?

दो दिन पहले मेडिकल कॉलेज दौरे पर आए सीएम योगी आदित्यनाथ को इतनी गम्भीर बात नहीं बताई गई कि ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कम्पनी छह माह से पेमेन्ट मांग रही है। दस लाख की लिमिट की जगह उधार का आंकड़ा करीब 69 लाख रुपए पर पहुंच गया है। इससे ही लगता है कि मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने इसे गम्भीरता से नहीं लिया। यहां तक कि कम्पनी ने सप्लाई रोकने की चेतावनी दे दी, तब भी जूं तक नहीं रेंगी। कहीं ऐसा तो नहीं कोई ऐसी शक्तियां काम कर रही हों, जो इस सरकार को ठप करना, बदनाम करना चाह रही हों। क्योंकि देखने में आया है कि सख्त हिदायतों के बावजूद यूपी की पुलिस अपनी पुरानी गुंडागिर्दी नहीं छोड़ रही है। सीएम योगी जब शहीद के घर सांत्वना देने पहुंचे तो वहां अधिकारियों ने एसी, सोफा सेट आदि लगाने के साथ अन्य साज-शृंगार भी कर दिया था। योगी इस पर नाराज हुए। आगे से अधिकारियों को ऐसा नहीं करने की हिदायत दी, मगर वे थे कि नहीं माने। कुछ समय बाद वे दूसरे शहीद के घर गए तो भी वही तामझाम अधिकारियों ने जुटा दिए। छोटा नहीं, बहुत बड़ा नेटवर्क लगता है, ऐसे अधिकारियों का।

सरकार ने पैसा दिया 5 को, मगर कम्पनी तक अब पहुंचा

निलम्बित प्रिंसिपल राजीव मिश्रा ने माना कि सरकार ने 5 अगस्त को बजट खाते में जमा करा दिया था। खाते में मगर पैसा 7 अगस्त को पहुंचा। अब सवाल उठता है कि फिर इतने बच्चों की जान जाने के बाद 11 अगस्त को ही कम्पनी कोआपाधापी में पैमेन्ट करने की कार्यवाही क्यों की गई?                                                                    राजनीति शुरू                                                   पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा-सरकार सच्चाई बताना नहीं चाह रही। मौतें ऑक्सीजन की कमी से ही हुई है।                                                                 पूर्व मुख्यमंत्री मायावती-योगी सरकार स्वास्थ्य मंत्री को बर्खास्त करे।                                                     कांग्रेस नेता गुलामनबी आजाद व राज बब्बर मेडिकल कॉलेज पहुंचे। योगी सरकार पर जमकर बरसे।