चंडीगढ़: छेड़छाड़ का आरोपी विकास बराला गिरफ्तार

0
708
न्यूज़ चक्र @ सेन्ट्रल डेस्क
चंडीगढ़ में आईएएस अॉफिसर की बेटी से छेड़छाड़ के आरोपी विकास बराला व उसके दोस्त आशीष को आखिरकार पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। भाजपा के हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला के पुत्र की इस करतूत से पार्टी की भारी छीछालेदार हो रही है। इससे पहले विकास को पुलिस ने कुछ घंटे बाद थाने से ही जमानत पर छोड़ दिया था। इससे उस पर भी सवाल उठ रहे थे।

इस मामले में यह भी बताया जा रहा है कि वारदात के समय दोनों आरोपी नशे में थे। इनकी मेडिकल रिपोर्ट में भी इस बात की पुष्टि हो गई है। चंडीगढ़ आईजी टी लूथरा के मुताबिक, घटना के बाद पुलिस विकास बराला और उसके दूसरे साथी को मेडिकल के लिए अस्पताल लेकर गई थी, लेकिन उन्होंने ब्लड और यूरिन सैम्पल देने से मना कर दिया था। लूथरा ने कहा, आरोपी क़ानून का छात्र है और उसे मालूम था कि वह क्या कर रहा है।

लूथरा ने डॉक्टर ने ऑब्जर्वेशन के आधार पर मेडिकल रिपोर्ट तैयार की, जिसमें उनके शराब पिये होने की पुष्टि हुई है। लूथरा ने बताया कि आरोपियों का ब्लड और यूरिन सैम्पल न देना उनके खिलाफ जाता है। उन्होंने कहा, न्याय के लिए सब कुछ उजागर किया जाएगा।
उल्लेखनीय है कि भारी बवाल केे बाद हरियाणा पुलिस ने आरोपी विकास बराला और उसके दोस्त को जांच के लिए बुधवार को हाजिर होने के लिए समन जारी किया था। हालांकि मंगलवार शाम को विकास बराला ने पुलिस से समन लेने से मन कर दिया था। इसके बाद पुलिस ने उसके सेक्टर-7 स्थित घर पर ही समन चिपका दिया था।

गृह मंत्रालय को भेजी रिपोर्ट
उधर, हरियाणा भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला ने कहा है कि विकास पुलिस को जांच में हर सम्भव मदद देगा।उन्होंने कहा, चंडीगढ़ में नहीं होने की वजह से विकास समन रिसीव नहीं कर पाया था। चंडीगढ़ प्रशासन ने पूरे मामले की जानकारी गृह मंत्रालय को भेज दी है। माना जा रहा है कि सबूतों के सामने आने के बाद विकास बराला पर चार्जेज बढ़ सकते हैं।

यह है मामला
विकास बराला पर शराब के नशे में रात को आईएएस ऑफिसर की बेटी वर्णिका की कार का पीछा कर उसके साथ छेड़खानी करने का आरोप हैै। पीड़िता की शिकायत पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। मगर 16 घंटे में ही उसे थाने से ही जमानत दे दी गई थी। जबकि वर्णिका का कहना था कि आरोपियों ने उसकी कार का पीछा कर उस रुकवाया। बाद में एक ने उतरकर उसकी कार का गेट खोलने की कोशिश की। इस मामले में विपक्ष हरियाणा की भाजपा सरकार पर विकास बराला को बचाने का आरोप लगा रही है।