गुजरात राज्यसभा चुनाव: क्रॉस वोटिंग करने वाले दो कांग्रेसी विधायकों के वोट रद्द

भाजपा के अमित शाह व स्मृति इरानी का जीतना तय, कांग्रेस के अहमद पटेल पर असमंजस

0
836
न्यूज़ चक्र @ सेन्ट्रल डेस्क
 गुजरात में राज्यसभा की तीन सीटों पर चुनाव में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का तो राज्यसभा में जाना निश्चित है। लेकिन तीसरी सीट के लिए भाजपा नेता बलवंत सिंह और कांग्रेस नेता अहमद पटेल के बीच लड़ाई बेहद दिलचस्प हो गई है। कांग्रेस के दो विधायकों की क्रॉस वोटिंग के बाद उनके वोट रद्द हो जाने से यह स्थिति बनी है।

शाम को दोनों ही दल इस मामले को लेकर चुनाव आयोग पहुंच गए थे। आयोग ने कांग्रेस की मांग पर चुनाव की फुटेज मंगाई। देर रात आयोग ने कांग्रेस के दो विधायकों के वोट रद्द कर दिए। इन दोनों ने अपने वोट बीजेपी को दिखाए थे। दो वोटों के खारिज होने के बाद अब अहमद पटेल को जीतने के लिए 43.5 वोट चाहिए और उनके पास 44 वोट हैं। दो वोट खारिज होने पर वैध मतों की संख्‍या 174 रह गई। इन्‍हें चार भागों में बांटने पर जीतने के लिए आंकड़ा 43.5 निकलकर आता है। फुटेज देखने के बाद ही फैसला आने की उम्मीद है। दो वोट को लेकर कांग्रेस-बीजेपी में ठनी थी। राघवजी पटेल की वोटिंग पर कांग्रेस ने आपत्ति जताई है। पार्टी ने चुनाव आयोग से वोट रद्द करने की मांग करते हुए कहा कि राघवजी पटेल ने व्हिप के बावजूद वोट का खुलासा किया। वहीं बीजेपी ने कांग्रेस के एक विधायक के वोट पर आपत्ति जताई है। अब अगर वोट रद्द हुए तो पूरा गणित बदल जाएगा।

तीसरी सीट पर भाजपा नेता बलवंत सिंह और कांग्रेस नेता अहमद पटेल में पेंच फंसा हुआ है।चुनाव में क्रॉस वोटिंग के चलते मामला उलझ गया है।अहमद पटेल देर शाम भी खुद की जीत का दावा कर रहे थे। इलेक्शन कमीशन पहुंचे भाजपा नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने तत्काल काउंटिंग शुरू करने की मांग की। उन्होंने कहा कि फ्री एंड फेयर चुनाव हुआ है। कांग्रेस के प्रतिनिधिनंडल ने चुनाव आयोग से मुलाकात की  कांग्रेस ने कहा कि उन्होंने आयोग को शिकायत के साथ सुबूत दिए हैं।

चुनाव आयोग से मिलने के बाद रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि हम न्याय की बात कह रहे हैं। हमें विश्वास है कि ईसी न्याय करेगा। सारे तथ्य रखे गए हैं। ईसी ने हमारी बात सुनी। कांग्रेस पार्टी ने सुप्रीम कोर्ट का कागज दिया है। हम तथ्यों की लड़ाई लड़ रहे हैं। बीजेपी कितना भी झुंझलाये, विनम्रता से बीजेपी को कहेंगे कि ये सच्चाई की लड़ाई है। गांधी जी ने अपना खून देकर सच्चाई की लड़ाई लड़ी है। भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं वर्षगांठ है। दो विधायक के वोट खारिज हो जाएं तो दूध का दूध पानी का पानी सामने आ जाएगा। दोनों विधायकों ने दूसरे लोगों को अपने वोट दिखाए हैं। वहीं भाजपा नेता धर्मेद्र प्रधान ने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि वो आयोग पर दबाव बना रही है। इस बीच भाजपा अध्यक्ष अमित शाह गांधीनगर स्थित काउंटिंग सेंटर पहुंच गए। उनके साथ गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी, नितिन पटेल, भूपेंद्र यादव आदि हैं ।