गुजरात में राहुल का भारी विरोध, कार पर हमला

बाढ़ पीड़ितों से मिलने पहुंचे थे राहुल, मगर लोगों ने काले झंडे दिखाए, विरोध के कारण एक जगह तो दो मिनट में ही छोड़ना पड़ा मंच

0
1670
न्यूज़ चक्र @ अहमदाबाद/ सेन्ट्रल डेस्क

बाढ़ पीड़ितों से मुलाकात करने गुजरात आए कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी को लोगों के भारी विरोध का सामना करना पड़ा। उनकी कार पर बनासकांठा में बड़ा हमला हुआ है। कार पर पत्थर फेंके जाने से उसके शीशे फूट गए। राहुल को काले झंडे भी दिखाए गए । राहत की बात यह रही कि हमले में उन्हें बिलकुल भी चोट नहीं आई है।

बनासकांठा में धानेरा गांव से राहुल गांधी के काफिले की 32 गाड़ियां गुजर रहीं थीं। ये यहां से हेलिपेड की ओर जा रहे थे,तभी बाकी सब गाड़ियों को छोड़ सीथे उनकी ही फॉर्च्युनर गाड़ी पर पीछे से काफी बड़े पत्थर फेंके गए। इससे साइड और पीछे का शीशा चकनाचूर हो गया। मगर आगे की सीट पर बैठे हुए राहुल को कोई चोट नहीं आई।

इससे पूर्व राहुल ने बाढ़ प्रभावित इलाकों के दौरे में लोगों से बात की। धानेरा के मलाला गांव में उन्हें भारी विरोध का सामना करना पड़ा, लोगों ने काले झंडे दिखाए। यहां लोगों को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि दो-चार काले झंडों से वे डरने वाले नहीं हैं। राहुल गांधी को काले झंडे दिखाने वाले मोदी-मोदी के नारे भी लगा रहे थे। धानेरा के लाल चौक में सभा के दौरान भी राहुल का भारी विरोध होने लगा तो उन्हें मंच छोड़ जाना पड़ा। यहां वे दो मिनट करीब ही रुक सके।

उठे बड़े सवाल, राहुल दें जवाब
गुजरात पुलिस ने कहा है कि राहुल गाांधी को हमने बुलेेेट प्रुफ गाड़ी में बैठने के लिए कहा था, मगर वे नहीं माने और निजी गाड़ी में ही बैठे। इसके अलावा यह सवाल भी उठ रहा है कि पत्थर  फेंकने वालों ने राहुल को निशाना बनाने की बजाए, साइड और पीछे की ओर ही पत्थर क्यों मारे ? इन स्थितियों के कारण भाजपा इसेे कांग्रेस का ही किया धरा बता रही है। वहीं कांग्रेस ने कहा है कि यह भाजपा केे गुंडों का कारनामा हैै। गुजरात के उप मुख्‍यमंत्री नितिन पटेल ने आरोप लगाया कि राहुल फोटोग्राफी कराने के लिए वहां गए थे।