राजस्थान: दुकानों पर तम्बाकू व तम्बाकू उत्पाद सजा कर नहीं रखे जा सकेंगे

0
823

न्यूज़ चक्र @ जयपुर

राजस्थान में अब खुले आम गुटखा और तम्बाकू प्रदर्शित कर नहीं बेचे जा सकेंगे। दुकानों पर खुले में गुटखा-तम्बाकू नहीं दिख सकेगा।  चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ के निर्देश पर प्रमुख शासन सचिव ( चिकित्सा एवं शासन विभाग) वीनू गुप्ता ने इस सम्बन्ध में आदेश जारी किए कर दिए हैं । चिकित्सा विभाग ने प्रदेश में कैंसर और अन्य रोगों के लगातार बढ़ते आंकड़ों के मद्देनजर यह बड़ा फैसला किया है।

सिगरेट, अन्य तम्बाकू उत्पाद अधिनियम-2003 की धारा 6(क) के संशोधित नियम-2011 में इसका प्रावधान किया गया है। इसमें यह स्पष्ट किया गया है कि खुले में तम्बाकू उत्पाद प्रदर्शित कर नहीं बेचे जा सकते हैं।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने इस सम्बन्ध में परिपत्र जारी कर तम्बाकू बिक्रीकर्ताओं को पाबन्द कर दिया है। साथ ही अधिकारियों को ऐसे मामले में कार्रवाई के निर्देश भी दिए गए हैं। गौरतलब है कि तम्बाकू उत्पादों के सेवन से देश में हर साल 10 लाख लोगों की मौतें हो रही हैं। राजस्थान में भी आंकड़ा हर साल 72 हजार मौतों का है।

एक अध्ययन के अनुसार, हमारे देश में दुर्घटना के बाद सबसे ज्यादा मौतें तम्बाकू से होने वाले रोगों से हो रही हैं। इससे मुंह, गले, नाक, आहार नली, आंत, मलाशय, फेफड़े, लीवर और स्किन का कैंसर हो रहा है और कैंसर होने का 90 फीसदी कारण तम्बाकू ही है। तम्बाकू के कारण देश और प्रदेश में मौतों की संख्या साल दर साल बढ़ रही है। देश में उत्तर प्रदेश के बाद राजस्थान में सबसे ज्यादा तम्बाकू का सेवन किया जाता है।